Tuesday , December 12 2017

वज़ीर-ए-ख़ारजा सलमान ख़ुरशीद की मुलाय‌म सिंह यादव से मुलाक़ात

नई दिल्ली 4 मई (पी टी आई) समाजवादी पार्टी की तरफ‌ से चीनी दरअंदाज़ी के मसले पर हुकूमत पर सख़्त तन्क़ीद के पस-ए-मंज़र में वज़ीर-ए-ख़ारजा सलमान ख़ुरशीद ने आज समाजवादी पार्टी के सरबराह मुलायम सिंह यादव से मुलाक़ात की और उन्हें इस मसले से नि

नई दिल्ली 4 मई (पी टी आई) समाजवादी पार्टी की तरफ‌ से चीनी दरअंदाज़ी के मसले पर हुकूमत पर सख़्त तन्क़ीद के पस-ए-मंज़र में वज़ीर-ए-ख़ारजा सलमान ख़ुरशीद ने आज समाजवादी पार्टी के सरबराह मुलायम सिंह यादव से मुलाक़ात की और उन्हें इस मसले से निमटने की हुकूमत की हिक्मत-ए-अमली और इस के मौक़िफ़ से वाक़िफ़ करवाया।

सलमान ख़ुरशीद ने मर्कज़ी वज़ीर-ए-ममलकत बराए दफ़्तर वज़ीर-ए-आज़म नारायण स्वामी के हमराह मुलाय‌म सिंह यादव से ऐवान पार्लीयामेंट में मुलाक़ात की। समाजवादी पार्टी के ज़राए के बमूजब मुलाय‌म सिंह यादव को लद्दाख में चीनी दरअंदाज़ी से निमटने के बारे में हुकूमत के मौक़िफ़ और उसकी हिक्मत-ए-अमली की तफ़सीलात से वाक़िफ़ करवाया गया।

सरबजीत सिंह की मौत का मसला भी 40 मिनट तवील तबादला-ए-ख़्याल के दौरान बातचीत का मौज़ू था। मुलाय‌म सिंह यादव ने बादअज़ां एक प्रैस कान्फ़्रैंस से ख़िताब करते हुए कहा कि अब हुकूमत कुछ संजीदगी का मुज़ाहरा कररही है लेकिन चीनियों को हमारी सरज़मीन से निकाल बाहर करने की ज़रूरत है।

ये एक इंतिहाई संगीन माम‌ला है। समाजवादी पार्टी के सरबराह ने कहा कि चीनी फ़ौज हिन्दुस्तानी सरज़मीन पर क़ाबिज़ होचुकी है। जब वो वज़ीर-ए-दिफ़ा थे तो उन्होंने फ़ौज को हुक्म दिया था कि दरअंदाज़ों को हिन्दुस्तान की सरज़मीन से निकाल बाहर किया जाना चाहीए। उस वक़्त भी चीनी फ़ौज ने हिन्दुस्तानी सरज़मीन पर 4 किलो मीटर फ़ासिले तक क़बज़ा किया था।

उन्होंने कहा कि चीनी क़ाबिले एतेमाद नहीं हैं। मुलाक़ात के बारे में सवाल का जवाब देते हुए सलमान ख़ुरशीद ने कहा कि वो मुख़्तलिफ़ मसाइल पर मुलाय‌म सिंह यादव को तफ़सीलात से वाक़िफ़ करवा चुके हैं। यू पी ए की अहम बैरूनी हलीफ़ समाजवादी पार्टी हाल ही में लोक सभा में लद्दाख में चीनी दरअंदाज़ी के मसले पर हुकूमत को तन्क़ीद का निशाना बना चुकी है और इस पर बुज़दिलाना अंदाज़ में कार्रवाई करने का इल्ज़ाम आइद करचुकी है।

उसे सलमान ख़ुरशीद के आइन्दा दौरा-ए-चीन पर भी सख़्त एतराज़ है।

TOPPOPULARRECENT