Sunday , July 22 2018

वज़ीर बदलने से कांग्रेस-एन सी पी असेंबली इंतिख़ाबात में

बी जे पी ने आज कांग्रेस-एन सी पी हुकूमत को ज़बरदस्त तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए कहा नए वज़ीर को महाराष्ट्र काबीना में शामिल करने से कांग्रेस-एन सी पी इत्तिहाद को असेंबली इंतिख़ाबात में कामयाबी मिलने वाली नहीं है।

बी जे पी ने आज कांग्रेस-एन सी पी हुकूमत को ज़बरदस्त तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए कहा नए वज़ीर को महाराष्ट्र काबीना में शामिल करने से कांग्रेस-एन सी पी इत्तिहाद को असेंबली इंतिख़ाबात में कामयाबी मिलने वाली नहीं है।

याद रहे कि जितेन्द्र ओहद को जो एन सी पी की महाराष्ट्र यूनिट के वर्किंग सदर हैं, आज बहैसियत वज़ीर राज भवन में ओहदा और राज़दारी का हल्फ़ दिलाया गया। बी जे पी की मुंबई यूनिट के सदर आशीष शेलार ने कहा कि महाराष्ट्र के अवाम ने कांग्रेस-एन सी पी इत्तिहाद वाली हुकूमत की तमाम ग़लत कारकर्दगियों का अच्छी तरह मुशाहिदा किया है।

अगर हुकूमत ये सोचती है कि सिर्फ़ वज़ीरों के चेहरे बदल देने से असेंबली इंतिख़ाबात में कामयाबी मिल जाएगी तो कांग्रेस-एन सी पी अहमक़ों की जन्नत में रहती है या फिर दिन में ख़ाब देख रही है। आशीष शेलार राज भवन में जतिंद्र ओहद की हल्फ़ बर्दारी की तक़रीब में मौजूद थे।

महाराष्ट्र के अवाम सब समझते हैं कि कौनसी पार्टी बद उनवान है। कांग्रेस-एन सी पी इत्तिहाद को असेंबली इंतिख़ाबात में ज़बरदस्त हज़ीमत का सामना करना पड़ेगा। यहां इस बात का तज़किरा भी ज़रूरी है कि हालिया लोक सभा इंतिख़ाबात में कांग्रेस-एन सी पी इत्तिहाद को शिकस्त फ़ाश का सामना करना पड़ा जहां कांग्रेस को सिर्फ़ दो और एन सी पी को सिर्फ़ चार नशिस्तों पर कामयाबी हासिल हुई थी।

शेलार से ये पूछा गया कि हल्फ़ बर्दारी की तक़रीब में बी जे पी और शिवसेना के अहम क़ाइदीन क्यों गैरहाज़िर थे जिसका जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि उन्होंने अपोज़ीशन की जानिब से तक़रीब हल्फ़ बर्दारी में शिरकत की। मुझ से कहा गया था कि तक़रीब में शिरकत करते हुए नए वज़ीर को मुबारकबाद दी जाये और नेक ख़ाहिशात का इज़हार किया जाये। पार्टी लीडर्स दौरे पर हैं लिहाज़ा तक़र्रुब में शिरकत नहीं करसके।

TOPPOPULARRECENT