Tuesday , January 16 2018

वजीर बोले पाक का क्या कसूर, अपोजीशन ने किया वार

शहीदों को लेकर वज़ीर डॉ भीम सिंह के बेतुके बयान से हुकूमत अभी उबर भी नहीं पायी थी कि सनीचर को ज़राअत वज़ीर नरेंद्र सिंह के बयान ने अपोजीशन को हमले का मौका दे दिया। जमुई में सुखाड़ की जायजा करने आये ज़राअत वज़ीर नरेंद्र सिंह ने एक प

शहीदों को लेकर वज़ीर डॉ भीम सिंह के बेतुके बयान से हुकूमत अभी उबर भी नहीं पायी थी कि सनीचर को ज़राअत वज़ीर नरेंद्र सिंह के बयान ने अपोजीशन को हमले का मौका दे दिया। जमुई में सुखाड़ की जायजा करने आये ज़राअत वज़ीर नरेंद्र सिंह ने एक प्राइवेट चैनल से बातचीत करते हुए कहा कि शहीद के अहले खाना का धरना पर बैठना बेतुका है। इस मुतल्लिक़ चैनल की तरफ से पूछे गये सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि शहीद के अहले खाना के साथ उनकी पूरी हमदर्दी है, पर अहले खाना की मांग कि सदर ए जम्हूरिय और वजीरे आजम आ जायें बेतुका है। हुकूमत को जो करना चाहिए, वह कर रही है। कहीं कोई कोताही नहीं हो रही। सरहद पर पाक सैनिकों की तरफ से भारतीय फौजों की कत्ल से मुतल्लिक़ एक सवाल पर उन्होंने कहा कि इसमें पाकिस्तान हुकूमत का क्या जुर्म। अपने यहां भी तो नक्सली हमले होते रहे हैं, तो क्या उसे हुकूमत करा रही है?

उधर, एजेंसी के मुताबिक, ज़राअत वज़ीर नरेंद्र सिंह ने कहा, ‘मैं नहीं मानता कि पुंछ जिले में कंट्रोल लाइन पर पाकिस्तानी सेना की तरफ से पांच भारतीय फौजों की कत्ल की वाकिया के लिए पाकिस्तान जिम्मेवार है। पाकिस्तान हमारा छोटा भाई और पड़ोसी है।’
इस बीच, भाजपा के रियसती सदर मंगल पांडेय और साबिक़ वज़ीर गिरिराज सिंह ने कहा कि ज़राअत वज़ीर का यह बयान उनके ज़ेहनी दिवालियापन को दरशाता है। शहीद फौजों के फी मुल्क भर में जो एहतेराम की जज़्बात ज़हीर हुई है उसका यह तौहीन भी है।

TOPPOPULARRECENT