वर्ल्ड कप में एक बार फिर बांग्लादेश ने रचा इतिहास, विंडीज को 7 विकेट से हराया

वर्ल्ड कप में एक बार फिर बांग्लादेश ने रचा इतिहास, विंडीज को 7 विकेट से हराया

विश्व के नंबर-1 हरफनमौला खिलाड़ी शाकिब अल हसन ने एक बार फिर बताया है कि वह बड़े मैचों के खिलाड़ी हैं. इस बाएं हाथ के बल्लेबाज ने अपने बेहतरीन जुझारूपन से सोमवार को आईसीसी विश्व कप-2019 के मैच में विंडीज को सात विकेट से हार के लिए विवश कर दिया.

विंडीज ने पहले बल्लेबाजी करते हुए शाई होप (96), इविन लुइस (70) और शिमरन हेटमायेर के तेज 50 रनों के दम पर बांग्लादेश के सामने 322 रनों का लक्ष्य रखा. विंडीज के गेंदबाजी फॉर्म में है और यही देखते हुए बांग्लादेश की जीत की संभावनाएं कम लग रही थीं, लेकिन बांग्लादेश ने सिर्फ 41.3 ओवरों में तीन विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया.

यह विश्व कप में किसी भी टीम द्वारा रनों का पीछा करते हुए हासिल की गई दूसरी सबसे बड़ी जीत है जबकि बांग्लादेश की लक्ष्य का पीछा करते हुए यह सबसे बड़ी जीत है और इस ऐतिहासिक जीत के प्रमुख कारण बने शाकिब.

शाकिब ने शुरू से एक छोर पकड़े रखा और बेहतरीन नाबाद 124 (99 गेंदें, 16 चौके) रनों की पारी खेल अपनी टीम को इस विश्व कप में दूसरी जीत दिलाई. शाकिब को दूसरे छोर पर साथ की जरूरत थी जो उन्हें लिट्टन दास से मिला. दास ने नाबाद 96 (69 गेंदें, आठ चौके, चार छक्के) रनों की पारी खेली और शाकिब के साथ चौथे विकेट के लिए 189 रनों की साझेदारी कर टीम को जीत दिलाई. शाकिब ने गेंद से भी योगदान दिया और दो सफलताएं हासिल की और इसलिए मैन ऑफ द मैच चुने गए. इन दोनों ने मुश्किल स्थिति में जुगलबंदी दिखाई और टीम की जीत के कारण बने.

बांग्लादेश जिस तरह से बल्लेबाजी कर रही थी उसे देखकर लग रहा था कि वह जानती थी कि यह लक्ष्य हासिल किया जा सकता है. तमीम इकबाल (48) और सौम्य सरकार (29) की जोड़ी ने जीत का माहौल बनना शुरू किया और पहले विकेट के लिए 52 रन जोड़े. बल्ले से नाकाम चल रहे आंद्रे रसेल ने सरकार से किसी तरह छुटकारा दिलाया तो तमीम और शाकिब ने मोर्चा संभल लिया.

दोनों ने टीम को सौ के पार पहुंचा दिया. तमीम अपने अर्धशतक से दो रन दूर थे तभी वह रन आउट हो गए. तब टीम का स्कोर 121 था. शाकिब के साथ मिलकर दक्षिण अफ्रीका को मात देने वाले मुश्फीकुर रहीम सिर्फ एक रन बना सके. उनका विकेट 133 के कुल स्कोर पर गिरा.

यहां शाकिब अकेले पड़ते दिखे, लेकिन दास ने अपने सीनियर खिलाड़ी के कहे अनुसार बल्लेबाजी की और मैच जिताऊ साझेदारी कर टीम की जीत के कारण बने. इन दोनों ने तेजी से रन बनाए और विंडीज के गेंदबाजों को अपने ऊपर हावी नहीं होने दिया.

शाकिब ने इस मैच में अपने वनडे करियर के छह हजार रन भी पूरे कर लिए. वह अपने देश के लिए यह मुकाम हासिल करने वाले दूसरे बल्लेबाज हैं. यह उनका इस विश्व कप में दूसरा शतक भी है. इससे पहले उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सैंकड़ा जमाया. शाकिब ने अपनी पारी में 99 गेंदें खेलीं जिनमें से 16 पर चौके मारे। वहीं दाश ने शाकिब के अंदाज में तेजी से रन बनाए. अपने शतक से छह रन से चूकने वाले दास ने 69 गेंदों का सामना किया और आठ चौकों के अलावा चार छक्के लगाए.

इससे पहले, बांग्लादेश ने टॉस जीत गेंदबाजी का फैसला किया. विंडीज की टीम तेज शुरुआत नहीं कर पाई लेकिन उसने होप, लुइस, हेटमायेर की पारियों के दम पर बड़े स्कोर की ओर कदम बढ़ा लिए थे, लेकिन अंतिम के ओवरों में इन सभी के न होने से एक समय 340 के आस-पास जाती दिख रही विंडीज 50 ओवरों में आठ विकेट के नुकसान पर 321 रन तक ही सीमित हो गई.

बांग्लादेश ने शुरुआत बेहतरीन की. क्रिस गेल ने 13 गेंदें खेलीं लेकिन खाता नहीं खोल पाए और मोहम्मज सैफउद्दीन का शिकार बने.

दूसरे सलामी बल्लेहाज लुइस ने इस खराब शुरुआत का दवाब नहीं लिया और होप के साथ स्कोरबोर्ड को बढ़ाते रहे. दोनों ने दूसरे विकेट के लिए 116 रनों की साझेदारी. लुइस, शाकिब की गेंद पर इस साझेदारी को तोड़ते चलते बने. लुइस ने 67 गेंदों पर छह चौके और दो छक्कों की मदद से अर्धशतक बनाया.

होप दूसरे छोर पर खड़े रहे। निकोलस पूरन ने उनका साथ देने की कोशिश की लेकिन 25 रनों के निजी स्कोर से आगे नहीं जा पाए। होप अभी भी खड़े थे लेकिन इस बार उन्हें हेटमायेर का साथ मिला जिन्होंने आक्रामक बल्लेबाजी करते हुए 26 गेंदों पर चार चौके और तीन छक्कों की मदद से 50 रन बनाए। होप और हेटमायेर ने चौथे विकेट के लिए 83 रन बनाए.

मुस्ताफिजुर ने हेटमायेर को आउट कर बांग्लादेश के गेंदबाजों को राहत दी और तीन गेंद बाद रहमान ने अपनी टीम को एक और बड़ा विकेट दिलाया। इस बार शिकार रसेल बने जो खाता भी नहीं खोल पाए. होप को मुस्ताफिजुर ने अपना शिकार बना उन्हें चार रनों से शतक से रोक दिया। होप ने 121 गेंदों की पारी में चार चौके और एक छक्का लगाया.

अंत में जेसन होल्डर ने 33, डारने ब्रावो ने 19, ओशाने थॉमस (नाबाद 6) ने टीम को विशाल स्कोर तक पहुंचने की कोशिश की लेकिन कामयाब नहीं रहे. आखिरी के पांच ओवरों में टीम ने सिर्फ 33 रन ही जोड़े. बांग्लादेश की तरफ से रहमान और सैफउद्दीन ने तीन-तीन विकेट लिए। शाकिब को दो सफलताएं मिलीं.

Top Stories