Wednesday , September 26 2018

वसीम रिजवी को सरकार ने दी ‘वाई प्लस’ श्रेणी की सुरक्षा

उत्तर प्रदेश शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के चेयरमेन वसीम रिजवी को प्रदेश सरकार ने वाई प्लस श्रेणी की सुरक्षा प्रदान की है। अपने विवादित बयानों के चलते चर्चा में रहने वाले वसीम रिजवी ने ईद पर पाकिस्तान का झंडा जलाकर मुर्दाबाद के नारे लगाये थे।

इतना ही नहीं उन्होंने पाकिस्तान के आर्मी चीफ कमर जावेद बाजवा की फोटो भी जलायी थी। कश्मीर में वरिष्ट पत्रकार शुजात बुखारी की हत्या के विरोध में वसीम रिजवी ने ईद मनाने से इंकार कर दिया था। उन्होंने शिया समुदाय से भी ईद न मनाने की अपील की थी।

वसीम रिजवी मुस्लिम धर्म गुरुओं पर विवादित बयान देने के अलावा अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के पक्ष में होने के कारण कट्टरपंथियों के निशाने पर हैं। जनवरी महीने में इस मुद्दे पर उन्होंने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री को एक चिट्टी लिखी थी। जिसके बाद उन्हें जान से मारने की धमकी दी गई थी।

प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लिखे पत्र में वसीम रिजवी ने मदरसों पर कई गंभीर आरोप लगाए थे। इसमें लिखा था कि आतंकी संगठन कुछ मदरसों को आर्थिक सहायता उपलब्ध करा रहे हैं। इन्हें बंद करने की जरूरत है। मदरसों ने इंजीनियर, डॉक्टर या अफसर नहीं दिए लेकिन आतंकवादी जरूर पैदा किए हैं।

कुछ संगठन और कट्टरपंथी मुस्लिम बच्चों को सिर्फ मदरसे की शिक्षा देकर उन्हें मुख्यधारा से दूर कर रहे हैं। यहां शिक्षा का स्तर काफी नीचे है। बच्चों को सही शिक्षा न मिलने से वे देश की मुख्यधारा से अलग हो जाते हैं और धीरे-धीरे आतंकवाद की ओर रुझान बढ़ने लगता है।

वसीम रिजवी ने मदरसों को मिलने वाली आर्थिक मदद की जांच की मांग की थी। उन्होंने कहा था कि ज्यादातर मदरसे जकात के पैसे से चल रहे हैं जो भारत के अलावा बांग्लादेश और पाकिस्तान से आ रहा है। रिजवी के इसी पत्र की मौलानाओं ने कड़ी निंदा की थी।

TOPPOPULARRECENT