वहीदा रहमान को सेंचुरी अवॉर्ड

वहीदा रहमान को सेंचुरी अवॉर्ड
मशहूर फिल्म अदाकारा वहीदा रहमान को ‘सेंचुरी अवॉर्ड फॉर द इंडियन फिल्म पर्सनलटी ऑफ द ईयर’ से नवाजा जाएगा। उन्हें यह अवार्ड हिन्दुस्तानी सिनेमा के 100 साल पूरे होने पर दिया जा रहा है।

मशहूर फिल्म अदाकारा वहीदा रहमान को ‘सेंचुरी अवॉर्ड फॉर द इंडियन फिल्म पर्सनलटी ऑफ द ईयर’ से नवाजा जाएगा। उन्हें यह अवार्ड हिन्दुस्तानी सिनेमा के 100 साल पूरे होने पर दिया जा रहा है।

77 साला वहीदा रहमान को यह अवार्ड 20 नवंबर से गोवा में शुरू हो रहे 44 वें इन्टरनेशनह फिल्म फेस्टिवल ऑफ इंडिया (आईएफएफआई) में दिया जाएगा।

मर्कजी वजीर मनीष तिवारी ने यह खबर अपने ट्विटर अकाउंट ‘मनीषतिवारी’ पर दी है और उन्होंने वहीदा रहमान को मुबारकबाद भी दी है। इसमें 10 लाख रुपए नकद और एक सर्टिफिकेट शामिल होगा।

हिन्दी फिल्मों में उनके दाखले के बारे में कहा जाता है कि वो गुरूदत्त ने उन्हें हैदराबादी और उर्दू की जानकार समझकर अपनी फिल्म में साइन किया था और लोग यही समझते रहे कि वह हैदराबादी हैं। बाद में उन्होंने बताया कि उनकी पैदाइश तमिलनाडू में हुई है।

वहीदा रहमान ने अपने करियर की शुरुआत 1955 में तमिल फिल्म ‘जयासिम्हा’ से की थी। इसके एक साल बाद फिल्म ‘सीआईडी’ से हिन्दी फिल्मों में उनका दाखला हुआ। ‘गाइड’, ‘प्यासा’, ‘मन मंदिर’, ‘कागज के फूल’, ‘तीसरी कसम’, ‘राम और श्याम’, ‘रेशमा और शेरा’ और ‘नील कमल’ समेत 70 से ज्यादा फिल्मों में अदाकारी की। उन्हें 1972 में पदमश्री और 2011 में पदमभूषण का एजाज मिला है।

Top Stories