Wednesday , December 13 2017

वाई ऐस आर सी पी के सीनियर क़ाइदीन का इजलास(बैठाना)

हैदराबाद।०७अक्टूबर (सियासत न्यूज़) वाई ऐस आर कांग्रेस पार्टी की सीनीयर क़ाइदीन का एक अहम इजलास आज हैदराबाद में पार्टी ऑफ़िस पर मुनाक़िद हुआ जिस में सुप्रीम कोर्ट की जानिब से वाई ऐस जगन मोहन रेड्डी की दरख़ास्त ज़मानत को मुस्तर्द

हैदराबाद।०७अक्टूबर (सियासत न्यूज़) वाई ऐस आर कांग्रेस पार्टी की सीनीयर क़ाइदीन का एक अहम इजलास आज हैदराबाद में पार्टी ऑफ़िस पर मुनाक़िद हुआ जिस में सुप्रीम कोर्ट की जानिब से वाई ऐस जगन मोहन रेड्डी की दरख़ास्त ज़मानत को मुस्तर्द किए जाने और सी बी आई की जानिब से दफ़्तर और क़ियामगाह पर ताज़ा धावॶं से पैदा शूदा सूरत-ए-हाल का जायज़ा लिया गया।

हैदराबाद में मौजूद पार्टी सीनीयर क़ाइदीन के इलावा अरकान असैंबली ने भी इजलास में शिरकत की और इजलास में किए गए फ़ैसलों से पार्टी की एज़ाज़ी सदर वाई ऐस वजए लक्ष्मी को वाक़िफ़ कराने का फ़ैसला किया गया। पार्टी ज़राए के मुताबिक़ क़ाइदीन का एहसास था कि ज़मानत की दरख़ास्त नामंज़ूर किए जाने से पार्टी कैडर में मायूसी पैदा हो चुकी है।

इस सूरत-ए-हाल से निमटने के लिए ज़रूरी है कि वाई ऐस वजए लक्ष्मी और उन की दुख़तर शर्मीला अवामी राबिता का कोई प्रोग्राम शुरू करें ताकि अवाम को हुकूमत की जानिब से जगन मोहन रेड्डी के ख़िलाफ़ इंतिक़ामी कार्रवाई से वाक़िफ़ किराया जा सकी। ज़राए ने बताया कि बेशतर क़ाइदीन का एहसास था कि चंद्रा बाबू नायडू की पदयात्रा और जगन मोहन रेड्डी की दरख़ास्त ज़मानत की ना मंज़ूरी ऐसे हालात हैं जिस में पार्टी क़ियादत का अवाम के दरमयान होना ज़रूरी ही, इस से एक तरफ़ कारकुनों के हौसले बरक़रार रहेंगे तो दूसरी तरफ़ अवामी हमदर्दी भी वाई ऐस आर कांग्रेस पार्टी के साथ जारी रहेगी।

बताया जाता है कि अवामी राबते के सिलसिले में बाअज़ प्रोग्रामों की तजवीज़ पेश की गई ही, जिस की क़तई मंज़ूरी वाई ऐस वजए लक्ष्मी से हासिल की जाएगी। ज़िमनी इंतिख़ाबात में वजए लक्ष्मी और शर्मीला के दौरों के मौक़ा पर अवाम में ग़ैरमामूली जोश-ओ-ख़ुरोश को देखते हुए पार्टी क़ाइदीन चाहते हैं कि माँ और बेटी दुबारा अवाम के दरमयान जाएं।

इसी दौरान वाई ऐस वजए लक्ष्मी, शर्मीला और जगन की शरीक-ए-हयात भारती ने चंचल गौड़ा जेल पहुंच कर जगन मोहन रेड्डी से मुलाक़ात की और ताज़ा तरीन सूरत-ए-हाल पर तबादला-ए-ख़्याल किया। बताया जाता है कि जगन मोहन रेड्डी ने उन्हें मश्वरा दिया कि वो ज़मानत की दरख़ास्त मुस्तर्द किए जाने पर मायूस ना हूँ और ना ही क़ाइदीन और कारकुनों को मायूसी का शिकार होने दें। कारकुनों के हौसले बुलंद रखने केलिए क़ियादत को हमेशा कारकुनों के दरमयान रहना चाहिए।

उन्हों ने अरकान ख़ानदान को मश्वरा दिया कि वो कांग्रेस हुकूमत की जानिब से उन्हें हिरासाँ किए जाने के ख़िलाफ़ अवामी तहरीक के आग़ाज़ पर ग़ौर करें।

इस सिलसिले में अवामी राबते का कोई प्रोग्राम शुरू किया जाय जिस के तहत मुख़्तलिफ़ अज़ला का दौरा करते हुए कांग्रेस और तलगो देशम की मिली भगत से वाई ऐस आर कांग्रेस पार्टी को निशाना बनाए जाने से अवाम को वाक़िफ़ किराया जाई। बताया जाता है कि जगन से मुलाक़ात करने वाले दीगर क़ाइदीन को भी उन्हों ने मश्वरा दिया कि वो सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले से हिम्मत ना हारें बल्कि माहिरीन क़ानून से मुशावरत करते हुए ज़मानत के हुसूल केलिए दुबारा दरख़ास्त पेश करने के इमकानात का जायज़ा लें।

TOPPOPULARRECENT