वाउरिनका की चेन्नई आमद

वाउरिनका की चेन्नई आमद
आलमी दर्जा बंदी में 8 वीं मुक़ाम पर फ़ाइज़ साबिक़ चैंपियन स्टानसलस वाउरिनका ने कहा कि उन्हें चेन्नई का सफ़र अच्छा लगता है, जैसा कि वो यहां ए रसेल चेन्नई ओपन में शामिल होने पहुंची हैं।

आलमी दर्जा बंदी में 8 वीं मुक़ाम पर फ़ाइज़ साबिक़ चैंपियन स्टानसलस वाउरिनका ने कहा कि उन्हें चेन्नई का सफ़र अच्छा लगता है, जैसा कि वो यहां ए रसेल चेन्नई ओपन में शामिल होने पहुंची हैं।

सुइज़रलैंड से ताल्लुक़ रखने वाले टेनिस स्टार वाउरिनका ने 2011 में ख़िताब हासिल किया था और गुजिश्ता साल‌ उन्हें फाईनल में मात हुई थी। यहां मीडिया नुमाइंदों से इज़हार ख़्याल करते हुए वाउरिनका ने कहा कि चेन्नई दुबारा पहुंचने पर मुझे काफ़ी ख़ुशी होरही है, ये एक बेहतर मुक़ाम है जहां से मैं नए सीज़न 2014 का बेहतर शुरु करने का ख़ाहिश है।

राजर फ़ेडरर के ग़ैरमामूली मुज़ाहिरों के साय में वाउरिनका को वो शौहरत नहीं मिली जिस के वो हकदार‌ भी रहे, ताहम उन्होंने इस बारे में कहा कि फ़ेडरर उनके ना सिर्फ़ हमवतन खिलाड़ी हैं बल्कि एक अच्छे दोस्त भी हैं जिन के साथ वो ओलम्पिक गोल्ड मेडल भी हासिल करचुके हैं।

वाउरिनका के मुताबिक‌ नए सीज़न में इन का एक अहम मक़सद सर-ए-फ़हरिस्त चार खिलाड़ियों में अपना मुक़ाम बनाना है, जैसा कि फ़िलहाल वो दर्जा बंदी में आठवीं मुक़ाम पर हैं। वाउरिनका ने कहा कि पहली मर्तबा वो सीज़न का सर-ए-फ़हरिस्त 10 खिलाड़ियों की फ़हरिस्त में शामिल हुआ है, लेकिन और‌ खेल में बेहतरी की जा सकती है जिस के ज़रिया दर्जा बंदी में भी बेहतरीन मुक़ाम भी हासिल किया जा सकता है, ताहम फ़ेडरर से बेहतर मुक़ाम मेरा मक़सद नहीं।

Top Stories