Saturday , December 16 2017

वादा ख़िलाफ़ी मेरे ख़ून में नहीं, जगन

सदर वाई एस आर कांग्रेस पार्टी मिस्टर जगन मोहन रेड्डी ने कहा कि वादे से इन्हिराफ़ करके वो अपना क़तल ख़ुद कर लेने का कोई इरादा नहीं रखते । उसूल और दियानत दारी उन की

सदर वाई एस आर कांग्रेस पार्टी मिस्टर जगन मोहन रेड्डी ने कहा कि वादे से इन्हिराफ़ करके वो अपना क़तल ख़ुद कर लेने का कोई इरादा नहीं रखते । उसूल और दियानत दारी उन की

दो आंखें हैं। पार्टी एक साल में अवाम और किसानों के दरमियान पहूंच जाने पर इत्मीनान का इज़हार किया । पार्टी की पहली यौमे तासीस (सालगरा)के मौक़ा पर पार्टी हैडक्वाटर पर पर्चम कुशाई अंजाम देने के बाद पार्टी क़ाइदीन और कारकुनों से ख़िताब करते हुए कहाकि वादों से इन्हिराफ़ करना उन के ख़ून में शामिल नहीं है ।

उन के वालिद अज़ीम क़ाइद डाक्टर राज शेखर रेड्डी ने इन से कहा था कि कितने दिन ज़िंदा रहते हैं इस की अहमियत नहीं जितनी भी ज़िंदगी मिली है इस को कैसे गुज़ारते हैं इस की अहमियत है । पार्टी तशकील देकर एक साल मुकम्मल होगया है पीछे मुड़ कर देखते हैं तो मुझे वो दिन याद आते हेंजब में मेरे वालिद डाक्टर राज शेखर रेड्डी के हादिसे के 20 दिन बाद जब नला मल्ला जंगलात को गया था वहां हेलीकाप्टर के जो टुकड़े हुए थे आज भी वो मेरे आँखों के सामने घूम रहे हैं ।

इस मुक़ाम पर मुनाक़िदा एक जलसा में एक लाख से ज़ाइद अवाम से में ने वादा किया था कि मेरे वालिद पर जिन 700 अफ़राद ने जान निछावर की है उन के अरकान ख़ानदान से उन के घरों को जाकर मुलाक़ात करूंगा जिन में चंद अफ़राद क़लब पर हमला होने से फ़ौत हुए थे और चंद अफ़राद ने ख़ुदकुशी की थी । बाप के साय से में महरूम हुआ था जिस का मुझे एहसास था लेकिन जिन के सदर ख़ानदान अरकान ख़ानदान से महरूम होगए थे उन के बारे में सोचकर फ़िक्रमंद था ।

कांग्रेस के क़ाइदीन मेरे और मुतास्सिरा अफ़राद ख़ानदान के दरमियान हाइल होगए । अपनी माँ और बहन के साथ दिल्ली पहोनचकर सोनिया गांधी से मुलाक़ात की और अपने वाअदे को दुहराया लेकिन सोनिया गांधी ने पुर्सा यात्रा मुनज़्ज़मकरने की इजाज़त देने से इनकार कर दिया । कांग्रेस में बरक़रार रहने पर वोज़ारत में शामिल करने का चंद कांग्रेस के सीनियर क़ाइदीन ने वादा किया लेकिन वो वाअदे से इन्हिराफ़ करते हुए ख़ुद अपना क़तल करने का कोई इरादा नहीं रखते थे ।कई क़ाइदीन ने कांग्रेस छोड़ने को सयासी ख़ुदकुशी के मुतरादिफ़ क़रार दिया ।

यहां तक कह दिया कि तुम्हारे वालिद ने 30 साल में अपना मुक़ाम बनाया तुम नई जमात तशकील देने के बाद सिर्फ 14 दिन में अपने इंतिख़ाबी निशान को अवाम तक कैसे ले जाउ गे इस पर ग़ौर करने का मश्वरा दिया । इन सब के इलावा ख़ानदान में फूट डाल कर चचा को उन के ख़िलाफ़ खड़ा करने से भी वाक़िफ़ किराया । मैं ने इस की कोई परवाह नहीं की और हिम्मत जुटाकर अवाम के दरमियान पहूँचा । राज शेखर रेड्डी को अपने दिलों में रखने वाले गरीबअवाम पर उन्हें भरोसा था ।

मेरे और मेरे साथ खड़ा रहने वाले क़ाइदीन के ख़िलाफ़ कई सयासी हरबे इस्तिमाल किए गए मगर गरीब अवाम ने मुझ पर भरोसा किया जिस केलिए वो अवाम के शुक्रगुज़ार हें अवाम से वादा करते हैं कि उन पर एतिमाद करने वालों को कभी मायूस नहीं करेंगे । गरीब किसानों से किए गए वाअदे को पूरा करने केलिए मेरीताईद करने वाले 17अरकान असेंबली ने हुकूमत के ख़िलाफ़ वोट देने पर असेंबली की रकनीत से महरूम होने का इलम रखने के बावजूद हुकूमत के ख़िलाफ़ वोट दिया और कितने दिन जीते हैं

इस की परवाह नहीं की कैसे जीते हैं इस का सबूत दिया है जिस पर मुझे फ़ख़र है और रियासत के अवाम तक ये पैग़ाम पहूंच गया है कि वाअदे पर बरक़रार रहने वाले क़ाइदीन कैसे होते हैं । इस इक़दाम से वाई एस आर कांग्रेस पार्टी के क़ाइदीन और कारकुनों का सर फ़ख़र से बुलंद होगया है।

TOPPOPULARRECENT