Saturday , September 22 2018

वादी में हड़ताल से आम ज़िंदगी मुतास्सिर

श्रीनगर, २० नवंबर (पीटीआई) सख़्त गीर हुर्रियत कान्फ्रेंस की जानिब से तलब करदा हड़ताल के बाद वादी में आम ज़िंदगी शदीद तौर पर मुतास्सिर हुई। मुहम्मद क़ासिम फुक्तो (Muhammad Qasim Fuktoo)में जम्मू-ओ-कश्मीर हाईकोर्ट के फ़ैसले के ख़िलाफ़ एहतिजाज के तौर प

श्रीनगर, २० नवंबर (पीटीआई) सख़्त गीर हुर्रियत कान्फ्रेंस की जानिब से तलब करदा हड़ताल के बाद वादी में आम ज़िंदगी शदीद तौर पर मुतास्सिर हुई। मुहम्मद क़ासिम फुक्तो (Muhammad Qasim Fuktoo)में जम्मू-ओ-कश्मीर हाईकोर्ट के फ़ैसले के ख़िलाफ़ एहतिजाज के तौर पर बंद का ऐलान किया गया था।

इस मौक़ा पर लाल चौक पर दुकानात, तालीमी इदारे, बैंक्स और दीगर तिजारती इदारे बंद रहे। सख़्त गीर हुर्रियत कान्फ्रेंस क़ाइद सैयद अली शाह गिलानी ने हफ़्ता के रोज़ एक रोज़ा बंद का ऐलान किया था। याद रहे कि हाईकोर्ट ने इंसानी हुक़ूक़ कारकुन एच एन वाँचू क़त्ल मुआमला में उम्र क़ैद की सज़ा काटने वाले फुकी दरख़ास्त मुस्तर्द कर दी थी।

फुक्तो (Muhammad Qasim Fuktoo) ने चूँकि अपनी सज़ा के 20 साल मुकम्मल कर लिए हैं, लिहाज़ा वो इस बात का ख़ाहां था कि अदालत उस की रिहाई के अहकामात जारी करे।

TOPPOPULARRECENT