वाराणसी हादसा: 18 की मौत, चीफ प्रोजेक्ट मैनेजर सहित 4 अफसर सस्पेंड

वाराणसी हादसा: 18 की मौत, चीफ प्रोजेक्ट मैनेजर सहित 4 अफसर सस्पेंड
Click for full image

वाराणसी में एक निर्माणाधीन फ्लाईओवर का हिस्सा गिर गया है. शुरुआती जानकारी के मुताबिक इस हादसे में 18 लोगों की मौत हो गई है जबकि 3 लोगों को मलबे से जिंदा निकाला गया है. मलबे के नीचे अब भी 50 से अधिक लोगों के दबे होने की आशंका है.

हादसे पर कार्रवाई करते हुए सरकार ने 4 अफसरों को सस्पेंड कर दिया गया है. सस्पेंड किए गए अफसरों में चीफ प्रोजेक्ट मैनेजर एचसी तिवारी, प्रोजेक्ट मैनेजर राजेंद्र सिंह और केआर सूडान और एक अन्य राज्य  सेतु निगम के एक अन्य कर्मचारी लालचंद को सस्पेंड कर दिया गया है.

हादसे में घायल 10 लोगों को कबीरचौरा हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया, जिसमें से 6 लोगों की मौत हो गई. चार अन्य घायलों की हालत गंभीर थी, जिसमें से एक घायल की हालत ज्यादा बिगड़ने पर उसे BHU ट्रॉमा सेंटर रेफर कर दिया गया.

इस फ्लाईओवर का निर्माण कैंट रेलवे स्टेशन के पास किया जा रहा था. वाराणसी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र है. सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ ने हादसे पर दुख जताया है और हरसंभव मदद का भरोसा दिया है. हादसे के बाद सीएम योगी लखनऊ से बनारस के लिए रवाना भी हो गए हैं. सीएम यहां पीड़ित परिवारों से मुलाकात कर घटनास्थन का दौरा करेंगे.

अब तक पिलर के नीचे दबे वाहनों के अंदर से 18 शव निकाले जा चुके हैं. राहत एवं बचाव कार्य में जुटी NDRF के मुताबिक, मरने वालों की संख्या अभी और बढ़ सकती है. हादसे में घायल 7 व्यक्तियों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जिनमें से दो की हालत गंभीर है, जबकि शेष 5 घायल खतरे से बाहर हैं.

उत्तर प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य घटनास्थल पर पहुंच चुके हैं. उन्होंने कहा कि हादसे की जांच के लिए टीम गठित कर दी गई है, जो भी दोषी पाया जाएगा, उसे बख्शा नहीं जाएगा. केशव प्रसाद मौर्य ने अस्पताल जाकर हादसे में घायल लोगों का भी हाल-चाल लिया.

Top Stories