Saturday , January 20 2018

वाहन कंपनियों को गडकरी का वार्निंग : बनाएं इलेक्ट्रिक कारें, वरना कर दूंगा ध्वस्त

 नई दिल्ली :  केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने स्पष्ट कहा है कि कंपनियों को वैकल्पिक ईंधन की तरफ बढ़ना चाहिए, आप पसंद करें या न करें, मैं आपसे पूछुंगा नहीं। मैं जमींदोज कर दूंगा। वै​कल्पिक र्इंधन अपनाएं अन्यथा परिणाम भुगतने को तैयार रहें. प्रदूषण और आयात पर मेरे विचार स्पष्ट हैं। इन्हें कम करने के लिए सरकार की नीति स्पष्ट है। वरना प्रदूषण और आयात से निपटने की कोशिश के तहत वे उन कंपनियों को बर्बाद करने में गुरेज नहीं करेंगे। भविष्य पेट्रोल व डीजल का नहीं है बल्कि वैकल्पिक ईंधन का है.
सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री ने वाहन उद्योग संघ सियाम के सालाना सम्मेलन में कहा कि इलेक्ट्रिक वाहनों पर एक कैबिनेट नोट तैयार है, जिसमें चार्जिंग स्टेशनों के मुद्दे पर ध्यान दिया गया है। गडकरी ने साफ़ कहा कि हमें वैल्पिक ईंधन की तरफ बढ़ना ही होगा । कड़ी चेतावनी देते हुए गडकरी ने कहा कि जो सरकार का समर्थन कर रहे हैं वे फायदे में रहेंगे और जो ‘नोट छापने में लगे हैं’ उन्हें परेशानी होगी. उन्होंने कहा कि कंपनियां बाद में यह कहते हुए सरकार के पास नहीं आएं कि उनके पास ऐसे वाहनों का भंडार भरा पड़ा है जो वैक​ल्पिक ईंधन पर नहीं चलते हैं.

भारतीय वाहन विनिर्माताओं के संगठन सियाम के निवर्तमान अध्यक्ष विनोद दसारी ने सरकार को सुझाव दिया कि अगर सरकार प्रदूषण घटाना चाहती है तो उसे अधिक प्रदूषण फैलाने वाले पुराने वाहनों को प्रतिबंधित करना चाहिए बजाय इसके लिए नए वाहनों को निशाना बनाया जाए.

TOPPOPULARRECENT