Tuesday , December 19 2017

विक्टिम का नाम लेने पर तेजपाल के वकील को पड़ी फटकार

Sexual Harassment के इल्ज़ाम में फंसे तहलका के चीफ एडीटर तरुण तेजपाल को जमानत देने के मामले में जुमा के दिन गोवा की अदालत में गर्मागर्म बहस हुई। यहां तक कि बहस करते हुए तेजपाल के वकील ने उनके मुवक्किल पर Sexual Harassment का इल्ज़ाम लगाने वाली लड़की का नाम

Sexual Harassment के इल्ज़ाम में फंसे तहलका के चीफ एडीटर तरुण तेजपाल को जमानत देने के मामले में जुमा के दिन गोवा की अदालत में गर्मागर्म बहस हुई। यहां तक कि बहस करते हुए तेजपाल के वकील ने उनके मुवक्किल पर Sexual Harassment का इल्ज़ाम लगाने वाली लड़की का नाम भी जाहिर कर दिया। इस पर जज गुस्सा हो गए और उन्होंने वकील को वार्निंग दी कि यह मामूली गलती नहीं है।

जज ने वकील को फटकार लगाते हुए कहा, ‘ऐसा लगता है कि मुतास्सिरा ही मुल्ज़िम है। हम इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे। यह सही नहीं है… क्या हम उन्हें बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं?’ यही नहीं जज ने वकील की इस सफाई को भी नहीं माना कि इन्वेस्टिगेशन ऑफिसर ने ही मुतास्सिरा का नाम लिखा था। इस पर जज ने कहा, ‘आपको फिर भी नाम नहीं लेना चाहिए था।’ डांट पड़ने के बाद इस पर वकील ने माफी मांगी। गौरतलब है कि कानून रेप के मुतास्सिरा की पहचान का खुलासा करने की इजाजत नहीं देता। तेजपाल जुमे की शाम गोवा पहुंचे थे और उन्हें हफ्ते की सुबह तक गिरफ्तारी से मोहलत दी गई है। जज आज सुबह बहस सुनेंगे।

जुमे के रोज़ जज के सामने डिफेंस के वकील ने दलील दी कि तेजपाल के खिलाफ दाखिल केस सियासी साजिश है और मुतास्सिरा की ओर से मामले की शिकायत दर्ज कराने में हुई देरी बताती है कि उसके इल्ज़ाम में सच्चाई नहीं है। उन्होंने यह भी कहा कि नया रेप कानून बहुत डरावना है।

इस पर जज ने कहा, ‘मैं क्राइम के बारे में सुनवाई कर रहा हूं न कि उन सियास्सी तब्सिरे के बारे में जो इस क्राइम के बाद की गई थीं।’

जज ने तेजपाल के वकील से पूछा कि क्या लड़की ने कोई सियासी तब्सिरे ब्यान की है? गौरतलब है कि तेजपाल पर उन्हीं की साबिक साथी ने इल्ज़ाम लगाया है कि इस महीने की शुरुआत में गोवा के एक फाइव स्टार होटेल में उससे रेप किया गया था। हालांकि तेजपाल रेप के इल्ज़ाम को खारिज कर रहे हैं और जो कुछ भी हुआ उसे बस ‘शराब के नशे में किया हुआ हंसी-मजाक’ बता रहे हैं।

उधर लड़की का कहना है कि तेजपाल ने जो किया वह रेप की डिफीनेशन में आता है। वकील ने कहा कि वाकिया से पहले और बाद का सीसीटीवी फुटेज दिखाया जाए जिससे तेजपाल की बेकसूरी साबित हो जाएगी मगर जज ने इस गुजारिश को मानने से इनकार कर दिया।

TOPPOPULARRECENT