Monday , December 11 2017

विजय माल्या के इकॉनोमिकल क्राइसिस का असर दिखा अमेरिका में!

नई दिल्ली: बैंको के कर्ज तले दबे बिजनेसमैन विजय माल्या के खिलाफ चल रही जांच की लपटें अब अमेरिका ब्रेवरी कंपनी तक जा पहुंची है।यह कंपनी अमेरिका के कैलिफोर्निया में वाकेय मेंडोसिनो ब्रीविंग कंपनी इंक है। कंपनी की तरफ से दी गई इत्लाि में कहा गया है कि कंपनी के चेयरमैन और प्रत्यक्ष बहुलांश शेयर होल्डर माल्या के खिलाफ भारत में कई कानूनी मामले चल रहे है।

कंपनी ने शुरुआत में 10 लाख डॉलर के कर्ज की उम्मीद कर ली थी। अब माल्या पर चल रही कार्रवाई का असर यूनाइटेड ब्रेवरीज होल्डिंग लिमिटेड व दिगर फाइनेंसियल अदारों पर भी पड़ेगा। अमेरिका की किसी कंपनी की तरफ से की गई यह पहली कुबूलनामा है।

कंपनी ने शेयर बाजारों को दी गई इत्लिा में कहा, ‘कंपनी के चेयरमैन और शेयर होल्डर विजय माल्या के खिलाफ भारत में कई कानूनी मामले चल रहे हैं। इनका असर यूनाइटेड ब्रीवरीज होल्डिंग लिमिटेड (यूबीएचएल) और दिगर मुमकिना वित्तपोषण स्रोतों से वित्तपोषण हासिल करने की कंपनी की क्षमता पर पड़ सकता है।’

अमेरिका में सूचीबद्ध इस कंपनी द्वारा संभवत: यह पहली स्वीकारोक्ति है। कंपनी धन जुटाने के लिए संघर्ष कर रही है और बैंक पहले ही उसे ‘भुगतान में चूक’ यानी डिफॉल्ट का नोटिस दे चुके हैं।

मेंडोसिनो ने अमेरिकी बाजार नियामक एसईसी से कहा है कि अगर वह धन जुटाने में विफल रही, तो ऋणदाता गिरवी रखी कंपनी की संपत्तियों के खिलाफ कार्रवाई कर सकते हैं। बता दें, माल्या की अगुवाई वाले यूबी ग्रुप की अंशधारक कंपनी यूबीएचएल अमेरिकी कंपनी डोसिनो बीविंग कंपनी में अप्रत्यक्ष रूप से बहुलांश की शेयरधारक है।

TOPPOPULARRECENT