Tuesday , December 12 2017

विज़ारत अक़िलिय‌ती उमूर की पहली इलाक़ाई कान्फ्रेंस‌ हफ़्ते को

विज़ारत अक़िलिय‌ती उमूर हकूमत-ए-हिन्द ने अक़िलिय‌तों की फ़लाह-ओ-बहबूद के लिये मर्कज़ी हुकूमत की तरफ‌ से शुरू की गई मुख़्तलिफ़ स्कीमात और प्रोग्राम्स से मुताल्लिक़ बेदारी पैदा करने के लिये जुनूबी , शुमाली , मशरिक़ी और मग़रिबी हिन्दुस्ता

विज़ारत अक़िलिय‌ती उमूर हकूमत-ए-हिन्द ने अक़िलिय‌तों की फ़लाह-ओ-बहबूद के लिये मर्कज़ी हुकूमत की तरफ‌ से शुरू की गई मुख़्तलिफ़ स्कीमात और प्रोग्राम्स से मुताल्लिक़ बेदारी पैदा करने के लिये जुनूबी , शुमाली , मशरिक़ी और मग़रिबी हिन्दुस्तान का अहाता करते हुए मुल्क में एन जी औज़ की चार इलाक़ाई कान्फ्रेंस‌ सें मुनाक़िद करने का फैसला किया है।

जुनूबी रीजन के लिये इस तरह की पहली कान्फ्रेंस 21 दिसंबर हफ़्ते को ऑडीटोरियम आफ़ दिल्ली पब्लिक स्कूल , नॉर्थ बैंगलोर , कर्नाटक में मुनाक़िद होगी। जुनूबी ख़ित्ता के लिये एन जी औज़ की इस कान्फ्रेंस में चार जुनूबी रियासतों कर्नाटक , तमिलनाडु , आंध्र प्रदेश , केरला और महाराष्ट्र की जरूरतों पर तवज्जु दी जाएगी।

मर्कज़ी वज़ारत अक़िलिय‌ती उमूर ने मर्कज़ के पाँच अक़िलियतों मुस्लिम , क्रिस्चन बुद्धिस्टस , सिख और पारसियों की तालीमी , मआशी , समाजी तरक़्क़ी , वक़्फ़ जायदादों के तहफ़्फ़ुज़ , हमा शोबा तरक़्क़ियाती प्रोग्राम , स्कॉलरशिप्स, कोचिंग प्रोग्राम्स और दीगर कामों के लिये फ़लाह-ओ-बहबूद की स्कीमात और प्रोग्राम्स शुरू किए हैं।

इस से मुताल्लिक़ अवाम में बेदारी पैदा करने के सिलसिले में ये इलाक़ाई कान्फ्रेंस का इनीक़ाद अमल में लाया जा रहा है ताकि अक़िलियतें हुकूमत की फ़लाही स्कीमात से बख़ूबी तौर पर वाक़िफ़ हो और उन से भरपूर अंदाज़ में इस्तिफ़ादा करसकें जो उनके लिये निहायत कारआमद और मुफीद साबित होंगी।

इस कान्फ्रेंस का इफ़्तिताह चीफ मिनिस्टर कर्नाटक सिद्धारमैया करेंगे और मर्कज़ी वज़ीर अक़िलियती उमूर के रहमान ख़ां मेहमान ख़ुसूसी होंगे। इस कान्फ्रेंस का एहतिमाम नेशनल माइनॉरिटी डेवलपमेंट एंड फाईनान‌स कारपोरेशन की जानिब से किया जा रहा है जिस में ज़ाइद अज़ 700 एन जी औज़ की शिरकत मुतवक़्क़े है। ये उम्मीद की जा रही है कि इस कान्फ्रेंस के इनीक़ाद से अवाम में विज़ारत अक़िलिय‌ती उमूर की स्कीमात और प्रोग्राम्स से मुताल्लिक़ बेदारी पैदा होगी।

TOPPOPULARRECENT