Sunday , January 21 2018

विज़ारत कोयला की गुमशुदा फाईल्स का तनाज़ा, लोक सभा में हंगामा

लोक सभा का इजलास किसी कार्रवाई के बगै़र दोपहर तक के लिए मुल्तवी कर दिया गया जबकि लोक सभा में विज़ारत कोयला की गुमशुदा फाईल्स और तेलंगाना मसले के बारे में अपोज़ीशन ने हंगामा खड़ा कर दिया था। ऐवान का इजलास जैसे ही शुरू हुआ, बी जे पी के

लोक सभा का इजलास किसी कार्रवाई के बगै़र दोपहर तक के लिए मुल्तवी कर दिया गया जबकि लोक सभा में विज़ारत कोयला की गुमशुदा फाईल्स और तेलंगाना मसले के बारे में अपोज़ीशन ने हंगामा खड़ा कर दिया था। ऐवान का इजलास जैसे ही शुरू हुआ, बी जे पी के अरकान गुमशुदा फाईल्स के राज़ का इन्किशाफ़करो के नारे लगाते हुए खड़े होगए थे। वो प्ले कार्ड्स लहरा रहे थे और वज़ीर-ए-आज़म से इस मसले पर बयान देने का मुतालिबा कररहे थे।

अन्ना डी ऐम के अरकान-ए‍पार्लियामेंट भी ईसी मसले पर ऐवान के वस्त में जमा होगए थे। तेलुगुदेशम‌ के अरकान जिन का ताल्लुक़ सीमा आंध्रा इलाक़े से था, स्पीकर के शहि नशीन के क़रीब आंध्रप्रदेश की तक़सीम और अलैहदा रियासत तेलंगाना की तशकील के फ़ैसला के ख़िलाफ़ बतौर-ए-एहतजाज नारे बाज़ी कररहे थे। इनका नारा था हम मुत्तहदा आंध्रप्रदेश चाहते हैं। सीमा आंध्रा इलाक़े के कांग्रेसी अरकान ने भी मुत्तहदा आंध्रप्रदेश की ताईद में नारे बाज़ी की और प्ले कार्ड लहराए।

एहतेजाज जारी रहने पर स्पीकर मीराकुमार ने ऐवान का इजलास किसी कार्रवाई के बगै़र दोपहर तक के लिए मुल्तवी कर दिया। राज्य सभा में हुकूमत को विज़ारत कोयला की गुमशुदा फाईलों के बारे में अपोज़ीशन के शोर-ओ-गुल का सामना करना पड़ा जो वज़ीर-ए-आज़म से इस मसले पर बयान देने का मुतालिबा कररहे थे। अपोज़ीशन ने ऐवान की कार्रवाई रोक दी थी। बादअज़ां मर्कज़ी वज़ीर बराए पारलीमानी उमोर ने अपोज़ीशन का मुतालिबा तस्लीम करते हुए कहा कि वज़ीर-ए-आज़म विज़ारत कोयला की गुमशुदा फाईल्स के बारे में ऐवान में बयान देंगे।

लोक सभा में भी कमल नाथ ने अपोज़ीशन पार्टीयों के शदीद मुतालिबे के पेशे नज़र ऐलान किया कि इस मसले पर ऐवान में मुबाहिस मुनाक़िद किए जाऐंगे और वज़ीर-ए-आज़म इस में मुदाख़िलत करेंगे। उनके तायक़ून‌ से क़बल लोक सभा में अपोज़िशन अरकान गुमशुदा फाईल्स के बारे में विज़ाहत से विज़ाहत का मुतालिबा करते हुए हंगामा खड़ा करचुके थे। क़ाइद अपोज़िशन सुषमा स्वराज ने कहा कि ये फाईल्स इस दौर की हैं जबकि वज़ीर-ए-आज़म 2006 से 2009 तक विज़ारत कोयला का क़लमदान अपने पास रखे हुए थे।

उन्होंने कहा कि हम पार्लियामेंट की कार्रवाई बला रुकावट जारी रखना चाहते हैं लेकिन इस से पहले वज़ीर-ए-आज़म की विज़ाहत ज़रूरी है। अरूण जेटली ने जो राज्य सभा में क़ाइद अपोज़िशन हैं, ईसी किस्म का मुतालिबा करते हुए कहा कि वज़ीर-ए-आज़म इजलास में मौजूद हैं, उन्हें अपना रद्द-ए-अमल ज़ाहिर करना चाहीए। इस पर जवाब देते हुए मर्कज़ी वज़ीर-ए-ममलकत शुक्ला ने कहा कि जयसवाल इस मसले पर मंगल के दिन जवाब दे चुके हैं और वज़ाहतें पेश करचुके हैं।

वज़ीर-ए-आज़म इस मौज़ू पर मुबाहिस के इनइक़ाद और इस में अपनी मुदाख़िलत के लिए तैयार हैं। सी पी आई क़ाइद गुरुदास दास गुप्ता ने इल्ज़ाम आइद किया कि गुमशुदा फाईलों में अहम अश्ख़ास के बारे में मालूमात हैं और उनकी गुमशुदगी पूरी कार्रवाई की पर्दापोशी के मक़सद से की गई है।

TOPPOPULARRECENT