विपक्ष गठबंधन का सबसे बड़े नेता के रुप में उभरी ममता बनर्जी!

विपक्ष गठबंधन का सबसे बड़े नेता के रुप में उभरी ममता बनर्जी!

लोकसभा चुनाव होने में अब 100 दिन से भी कम का समय बचा है। चुनाव से पहले पश्चिम बंगाल सबसे बड़ा राजनीतिक अखाड़ा बनता नजर आ रहा है।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी फ्रंटफुट पर आकर भारतीय जनता पार्टी और नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ हल्ला बोल रही हैं। पहले महागठबंधन की संयुक्त रैली और सीबीआई विवाद के साथ ही ममता बनर्जी ने 20 दिन के अंदर ही दूसरी बार विपक्ष को एक छतरी के नीचे ला दिया।

2014 में नरेंद्र मोदी की अगुवाई में एनडीए की सरकार आने के बाद से ही ममता बनर्जी का रुख आक्रामक रहा है। विधानसभा चुनाव, पंचायत चुनाव और अब लोकसभा चुनाव में बंगाल में टीएमसी और बीजेपी के बीच की जंग तेज होती जा रही है। रविवार को जब सीबीआई का विवाद गर्माया, तब ममता बनर्जी ने मोदी सरकार के खिलाफ हल्ला बोल दिया।

आज तक के मुताबिक, एकाएक समूचा विपक्ष ममता के समर्थन में सामने आता गया। राहुल गांधी, अखिलेश यादव, तेजस्वी यादव, अरविंद केजरीवाल, एचडी देवगौड़ा, एमके स्टालिन, फारुक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला समेत कई विपक्षी नेताओं ने ममता बनर्जी से फोन पर बात की और अपना समर्थन जताया। इसके अलावा कई नेताओं ने ट्विटर के जरिए ममता बनर्जी का साथ दिया।

बीते 20 दिनों में ये दूसरा मौका है जब विपक्ष ने एकजुटता का प्रदर्शन किया है और दोनों ही बार इसकी अगुवाई ममता बनर्जी ने की है। 19 जनवरी, 2019 को ममता बनर्जी ने ऐतिहासिक ब्रिगेड परेड ग्राउंड में महागठबंधन की रैली बुलाई, जिसमें करीब 22 दलों के नेता शामिल हुए थे। रैली में जुटी भीड़ ने काफी सुर्खियां बटोरी थीं और ममता ने अपनी ताकत का एहसास कराया था।

Top Stories