विसर्जन के दौरान फैजाबाद में आगजनी, कर्फ्यू

विसर्जन  के दौरान फैजाबाद में आगजनी, कर्फ्यू
अवध इलाके के दो जिलों फैजाबाद व बाराबंकी में बुधवार को मुर्ती विसर्जन को लेकर तनाव के हालात बन गए। फैजाबाद में शरपसंदो ( Miscreants) ने कई दुकानों व गाड़ियो को आग के हवाले कर दिया। दो गुटों में टकराव के दौरान जमकर संगबारी ( पथराव) हुई।

अवध इलाके के दो जिलों फैजाबाद व बाराबंकी में बुधवार को मुर्ती विसर्जन को लेकर तनाव के हालात बन गए। फैजाबाद में शरपसंदो ( Miscreants) ने कई दुकानों व गाड़ियो को आग के हवाले कर दिया। दो गुटों में टकराव के दौरान जमकर संगबारी ( पथराव) हुई।

पुलिस ने हालात को काबू में करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े व हवाई फायरिंग भी करनी पड़ी। बाराबंकी में लोगों ने रास्ता रोककर जाम लगा दिया। आखिर में पुलिस ने जबरदस्ती मुजस्समाओ‍ं ( प्रतिमाओ/ मूर्तीओं) का विसर्जन करा दिया। तनाव के चलते जुमेरात को सुबह फैजाबाद कोतवाली इलाके में कर्फ्यू लगा दिया गया।

फैजाबाद में बुधवार को दुर्गा प्रतिमा विसर्जन यात्रा के दौरान हुए तनाजे में चौक घंटाघर में कई दुकानों व गाड़ियो को आग के हवाले कर दिया गया। काफी देर तक गलियों से विसर्जन जुलूस व पुलिस पर पथराव किया गया। दूसरे तरफ के लोगो ने भी पथराव किया। पुलिस ने शरपसंदो ( Miscreants) को गलियों में खदेड़ने की कोशिश की। चौक से भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले दागने पड़े। गाड़ियां जिन पर मूर्तिया थी जाम में फस गई, जिसके चलते विसर्जन रोक दिया गया है।

इसके बाद लोगों ने चौक-चौराहों पर मुजाहिरा किया। शहर के अलावा जिले के रुदौली, पूराकलंदर व शाहगंज इलाके में भी बवाल हुआ। रुदौली में विसर्जन जुलूस पर पथराव, मूर्तियों में तोड़फोड के बाद हुए बवाल में पुलिस को हवाई फायरिंग करनी पड़ी।

पुलिस के गाड़ियो के तोड़फोड़ व आगजनी के साथ सीओ (C.O) रुदौली, चौकी प्रभारी चौक, सिपाहियों समेत अन्य के घायल होने की खबर है। पूराकलंदर थाना के इलाके में रोडवेज बस, फायर टेंडर व दुकानों को आग के हवाले कर दिया गया, तोड़फोड़ की गई।

शहर में तनाजे की शुरुआत विसर्जन यात्रा के दौरान चौक, रिकाबगंज वाले रास्ते पर पापुलर गली के पास कथित तौर पर मूर्ती ( मुजस्समा) पर पत्थर गिरने के बाद हुई। विसर्जन यात्रा में शामिल लोग जब गुस्से मे आए तो एक तरफ के लोगों ने आसपास की गलियों में मोर्चा संभाल लिया।

इल्ज़ाम है कि दोनों गुटों की ओर से पथराव किया गया। विसर्जन जुलूस को जहां-तहां रोक दिया गया और रूकावट के हालात पैदा हो गए। चौक घंटाघर के आसपास , फुटपाथ व पक्की दुकानों को आग के हवाले कर दिया गया। कई गाड़ियों में आग लगा दी गई।

अग्निशमन महकमा के दो फायर टेंडरों ने मौके पर पहुंच आग पर आग पर काबू करने की कोशिश की। पुलिस ने शरपसंदो ( दंगे करना वालो को) को गलियों में खदेड़ने की कोशिश की तो पुलिस पर पथराव किया गया। पथराव में चौकी प्रभारी चौक अखिलेश पांडेय समेत कइ लोगो को चोटें आई हैं। डिविजनल मधुसूदन रायजादा, डीआईजी पीके मिश्र, जिलाधिकारी दीपक अग्रवाल, एसएसपी रमित शर्मा समेत मातहत अफसर मौके पर पहुंच गए हैं।

हालात के मद्देनजर केंद्रीय रिजर्व पुलिस फोर्स और पीएसी के जवानों को भी बुला लिया गया। देर रात कई रास्तों को बदलकर कुछ प्रतिमाओं का विसर्जन किया गया।

Top Stories