Friday , September 21 2018

वीरप्पन की तलाश के बहाने कबायली ख्वातीन की इस्मत रेज़ि की गई

संदल की लक्कड़ी के महलूक स्मगलर वीरप्पन की बीवी मोथो लक्ष्मी ने अपने महलूक शौहर की तलाश के दौरान स्पेशल टास्क फ़ोर्स के ज़रीया अज़ीयतें दिए जाने के वाक़्यात की सी बी आई तहक़ीक़ात करवाने का मुतालिबा किया है।

संदल की लक्कड़ी के महलूक स्मगलर वीरप्पन की बीवी मोथो लक्ष्मी ने अपने महलूक शौहर की तलाश के दौरान स्पेशल टास्क फ़ोर्स के ज़रीया अज़ीयतें दिए जाने के वाक़्यात की सी बी आई तहक़ीक़ात करवाने का मुतालिबा किया है।

मोथो लक्ष्मी ने कर्नाटक के साबिक़ डी जी पी और आई जी एस एम बद्री को तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए कहा कि बद्री को वो इंसान मानने तैयार नहीं हैं क्योंकि इसके महलूक शौहर की तलाश के दौरान बद्री ने जो उस वक़्त स्पेशल टास्क फ़ोर्स के डिप्टी कमांडर थे, बहुत ज़्यादा ज़ुल्म-ओ-सितम ढाए। यहां तक कि उन्होंने ख्वातीन का भी कोई पास-ओ-लिहाज़ नहीं किया।

एक प्रेस कान्फ्रेंस से ख़िताब करते हुए उन्होंने एस टी एफ़ के ज़रीया कबायली ख्वातीन पर रोंगटे खड़े कर देने वाले ज़ुल्म-ओ-सितम का तज़किरा किया जिस में ख्वातीन की इस्मत रेज़ि और उन्हें बर्क़ी शॉक दिया जाना भी शामिल था। ख्वातीन ज़ुल्म-ओ-सितम के बारे में लब कुशाई ना करने इसलिए मजबूर थीं कि उन्हें ये ख़ौफ़ था कि लब कुशाई करने पर उन्हें हलाक कर दिया जाएगा।

TOPPOPULARRECENT