Monday , December 11 2017

वी एच पी की अयोध्या यात्रा एक दिखावा : शंकराचार्य

वी एच पी की मुजव्वज़ा चौरासी कोसी परीकरमा को फ़िर्कावाराना नौईयत का क़रार देते हुए गुरू धन पीठपूरी के शंकराचार्य स्वामी अधोकक्षजानंद ने आज मुतालिबा किया कि अमन को दिरहम बरहम करने से क़ब्ल मुनासिब इक़दामात किए जाने चाहिए।

वी एच पी की मुजव्वज़ा चौरासी कोसी परीकरमा को फ़िर्कावाराना नौईयत का क़रार देते हुए गुरू धन पीठपूरी के शंकराचार्य स्वामी अधोकक्षजानंद ने आज मुतालिबा किया कि अमन को दिरहम बरहम करने से क़ब्ल मुनासिब इक़दामात किए जाने चाहिए।

शंकराचार्य ने कहा कि वी एच पी की यात्रा को रोकने के लिए चीफ़ मिनिस्टर यू पी अखिलेश यादव को मकतूब लिखा है और एहितजाजियों को रोकने के लिए इक़दामात करने पर सताइश की है।

शंकराचार्य ने कहा कि ये यात्रा मुल्क में अमन को धक्का पहूँचाने की एक साज़िश है । परीक्रमा उन अफ़राद की साज़िश है जो हिंदू अज़्म को बदनाम करना चाहते हैं और हिंदू क़ौम को तारीकी में ढकलना चाहते हैं । अशोक सिंघल और उन का साथ देने वाले लोगों को ज़्यादा एहमीयत देने की ज़रूरत नहीं है । वी एच पी मुल्क में अमन-ओ-अमान को नुक़्सान पहूँचाना चाहती है।

TOPPOPULARRECENT