Tuesday , September 25 2018

वुकला की इंसानी ज़ंजीर, मदीना चौराहे पर ट्रैफ़िक दिरहम ब्रहम

हाइकोर्ट में मामूल की सरगर्मीयां मफ़लूज होगईं क्युंकि वुकला की कसीर तादाद ने हाइकोर्ट की फ़ौरी तक़सीम का मुतालिबा करते हुए पुराने शहर में एहतेजाजी धरना मुनज़्ज़म किया।

हाइकोर्ट में मामूल की सरगर्मीयां मफ़लूज होगईं क्युंकि वुकला की कसीर तादाद ने हाइकोर्ट की फ़ौरी तक़सीम का मुतालिबा करते हुए पुराने शहर में एहतेजाजी धरना मुनज़्ज़म किया।

तेलंगाना के एडवोकेटस ने जो मुख़्तलिफ़ अज़ला से यहां जमा हुए थे, हाइकोर्ट के रास्ते मदीना बिल्डिंग चौराहा पर इंसानी ज़ंजीर बनाई और तेलंगाना रियासत के लिए अलाहिदा हाइकोर्ट का मुतालिबा करते हुए नारे लगाए। तेलंगाना एडवोकेटस ने अपने काम काज का बाईकॉट किया और एहतेजाज में शरीक हुए।

उसकी वजह से अदालत में मामूल की सरगर्मीयां मुतास्सिर हुईं। एहतेजाजी वुकला का ये भी मुतालिबा था कि हाइकोर्ट की तक़सीम तक जजस के तक़र्रुत नहीं होने चाहिऐं। उन्होंने अदलिया की तक़सीम का अमल तेज़ करने पर ज़ोर दिया ताकि 29 वीं रियासत तेलंगाना में किसी ख़ललअंदाज़ी के बगै़र काम काज जारी रह सके।

वुकला ने हाइकोर्ट की सिम्त बढ़ते हुए कुछ देर के लिए अहाता अदालत में एहतेजाज किया। वुकला के एहतेजाज की वजह से ट्रैफ़िक निज़ाम दिरहम ब्रहम होगया था। उन्होंने कहा कि हुकूमत फ़ौरी इक़दामात ना करे तो एहतेजाज में शिद्दत पैदा की जाएगी और मर्कज़ पर दबाव‌ डालने के लिए बड़े पैमाने पर एहतेजाज शुरू किया जाएगा।

वुकला के ख़िलाफ़ दफ़ा 188 , 353 और 70(B) के तहत एक मुक़द्दमा दर्ज किया है । वाज़िह रहे कि पिछ्ले दो दिन से तेलंगाना से ताल्लुक़ रखने वाले तमाम वुकला ने रियासत के कोर्टस में काम का बाईकॉट किया है और हैदराबाद हाईकोर्ट के क़रीब मुसलसल धरना-ओ-एहतेजाज प्रोग्राम जारी है।

TOPPOPULARRECENT