Friday , December 15 2017

वुज़रा की तनख़्वाहें माहाना 2 लाख मुक़र्रर किए जाने का इमकान

हैदराबाद । 17 नवंबर : ( सियासत न्यूज़ ) : रियासत आंधरा प्रदेश के वुज़रा की तनख़्वाहों में अनक़रीब तीन गुना इज़ाफ़ा का इमकान है । हर माह वुज़रा की तनख़्वाहें तक़रीबन 2 लाख के क़रीब पहूंच जाएंगी । रियास्ती वज़ीर माल उनम राम नारायण रेड्डी की ज़ेर-

हैदराबाद । 17 नवंबर : ( सियासत न्यूज़ ) : रियासत आंधरा प्रदेश के वुज़रा की तनख़्वाहों में अनक़रीब तीन गुना इज़ाफ़ा का इमकान है । हर माह वुज़रा की तनख़्वाहें तक़रीबन 2 लाख के क़रीब पहूंच जाएंगी । रियास्ती वज़ीर माल उनम राम नारायण रेड्डी की ज़ेर-ए-सदारत गुज़शता रोज़ एक आला सतही इजलास मुनाक़िद हुआ जिस में वुज़रा की तनख़्वाहों में इज़ाफ़ा का फ़ैसला किया गया है ।

ज़राए ने बताया कि आइन्दा माह मुनाक़िद शुदणी सरमाई असमबली इजलास में हुकूमत बल को मंज़ूरी देगी । उन्हों ने बताया कि फ़िलहाल वुज़रा को अरकान असमबली से भी कम तनख़्वाहें मुक़र्रर हैं । तनख़्वाहें और दीगर अलाउंसस मिलाकर उन्हें माहाना 60 हज़ार रुपय ही मुक़र्रर है । इस के बजाय हुकूमत ने वुज़रा की तनख़्वाहों में तीन गुना इज़ाफ़ा का फ़ैसला किया है ताहम उन्हों ने इज़ाफ़ी शूदा तनख़्वाहों पर कब से अमल आवरी होगी इस ताल्लुक़ से कुछ नहीं बताया है । चीफ़ मिनिस्टर और दीगर वुज़रा की माहाना तनख़्वाह फ़िलहाल 5 हज़ार रुपय मुक़र्रर है इस को बढ़ाकर 15 हज़ार रुपय किया जाएगा ।

जब कि मकान किराया के तौर पर 30 हज़ार से बढ़ाकर 50 हज़ार , गाड़ी का अलाउंस 15 हज़ार से 25 हज़ार तक इज़ाफ़ा किया जा रहा है । हलक़ा असमबली , कैंप ऑफ़िस , चपरासी अलाउंस और ज़िला के दौरा के मौक़ा पर ट्रांसपोर्ट की सहूलत और महंगाई भत्ता में भी ग़ैरमामूली इज़ाफ़ा का इमकान है । अरकान असमबली को साबिक़ में तनख़्वाह और अलाउंस मिलाकर 36 हज़ार 500 रुपय मिलाकरते थे ताहम उस को बढ़ाने के बाद अब 94 हज़ार मिल रहे हैं इस पर गुज़शता मार्च को क़ानूनसाज़ असमबली में मंज़ूरी दी गई थी ।

इसी दौरान उन्हों ने मज़ीद बताया कि वुज़रा की पेशी में सरकारी मुलाज़मीन को ताय्युनात करने के बजाय ख़ानगी अफ़राद के इस्तिमाल पर उन्हें दीए जाने वाली तनख़्वाहें काफ़ी कम रहने की वजह से उन को आउटसोर्सिंग मुलाज़मीन के मुमासिल तनख़्वाहें मुक़र्रर करने के लिए भी बहुत अहकामात जारी किए जाऐंगे । चारता पाँच हज़ार रुपय तनख़्वाह हासिल करने वाले अफ़राद की कम अज़ कम तनख़्वाह 10 हज़ार मुक़र्रर की जाएगी ।।

TOPPOPULARRECENT