Sunday , December 17 2017

वेवीक्का नंद रेड्डी की जगन मोहन रेड्डी से मुलाक़ात

कांग्रेस पार्टी से मुस्ताफ़ी होने वाले वाई ऐस वेवीक्कानंद रेड्डी ने आज गुंटूर पहुंच कर सदर वाई ऐस आर कांग्रेस पार्टी जगन मोहन रेड्डी से मुलाक़ात की और उन की तशहीरी मुहिम की गाड़ी में सवार होकर इंतिख़ाबी मुहिम में हिस्सा लिया।

कांग्रेस पार्टी से मुस्ताफ़ी होने वाले वाई ऐस वेवीक्कानंद रेड्डी ने आज गुंटूर पहुंच कर सदर वाई ऐस आर कांग्रेस पार्टी जगन मोहन रेड्डी से मुलाक़ात की और उन की तशहीरी मुहिम की गाड़ी में सवार होकर इंतिख़ाबी मुहिम में हिस्सा लिया।

भतीजा के ख़िलाफ़ क़ानूनी कार्रवाई तेज़ होने के बाद कांग्रेस पार्टी से मुस्ताफ़ी होकर चचा आज गुंटूर पहुंचे और दोनों ने तन्हाई में काफ़ी देर तक बातचीत की। ज़राए ने बताया कि चचा को अपने क़रीब देख कर जगन जज़बात से मग़्लूब हो गए और गले मिल कर उन का ख़ौरमक़दम किया।

बादअज़ां (उसके बाद) चचा अपने भतीजे की तशहीरी गाड़ी में सवार होगए। मिस्टर वेवीक्का नंद रेड्डी ने कहा कि वो जिस तरह कांग्रेस के वफ़ादार थे, इसी तरह अपने भाई डाक्टर राज शेखर रेड्डी के भी वफ़ादार थे। सही माअनों में हमारे लिए डाक्टर राज शेखर रेड्डी ही हाईकमान थे।

उन्हों ने कहा कि ज़िमनी इंतिख़ाबात का शैडूल जारी होने के बाद भी वो कांग्रेस के साथ थे, ताहम कांग्रेस क़ाइदीन यहां तक कि चीफ़ मिनिस्टर भी मेरे भाई को तन्क़ीद का निशाना बनाने लगे तो मैं कांग्रेस की सफ़ में बैठ कर अपने भाई के ख़िलाफ़ की जाने वाली तन्क़ीदों को बर्दाश्त नहीं करसका।

उन्हों ने बताया कि भाई की मौत के बाद पली वीनदला से कांग्रेस के टिकट पर मुक़ाबला करने के लिए कोई तैय्यार नहीं था, मगर उस वक़्त मैंने ख़ानदान और ख़ूनी रिश्तों की पर्वाह ना करते हुए अपनी माँ जैसी भाबी के ख़िलाफ़ मुक़ाबला क्या, इस के बावजूद मुझे मशकूक (शक भरी)नज़रों से देखा जा रहा था।

TOPPOPULARRECENT