Tuesday , January 23 2018

वेस्ट इंडीज़ और‌ हिंदुस्तान आज मुकाबला

पाकिस्तान के ख़िलाफ़ शुरुआती मुक़ाबला में कामयाबी से खिलाड़ियों के हौसले बुलंद हुए हैं और हिंदुस्तानी स्पिनर्स आज वेस्ट इंडीज़ के ख़िलाफ़ खेले जाने वाले टूर्नामेंट के अपने दूसरे मुक़ाबले में क्रीस गेल के के लिए तैयार हैं।

पाकिस्तान के ख़िलाफ़ शुरुआती मुक़ाबला में कामयाबी से खिलाड़ियों के हौसले बुलंद हुए हैं और हिंदुस्तानी स्पिनर्स आज वेस्ट इंडीज़ के ख़िलाफ़ खेले जाने वाले टूर्नामेंट के अपने दूसरे मुक़ाबले में क्रीस गेल के के लिए तैयार हैं।

पाकिस्तान के ख़िलाफ़ कामयाबी हिंदुस्तान के लिए एक ऐसी ज़रूरत थी जिस के ज़रिया वो ना सिर्फ़ टी 20 वर्ल्डकप का बेहतर आग़ाज़ करसकें बल्कि क्रीस गेल जैसे टी 20 के ख़तरनाक बैटस्मेन के ख़िलाफ़ अपने हौसलों को बुलंद रख सकें। इस हक़ीक़त से वाक़िफ़ कि क्रीस गेल किसी भी लम्हा अपनी धमाको बैटिंग के ज़रिया मुक़ाबला को वेस्ट इंडीज़ के हक़ में करसकते हैं, हिंदुस्तानी स्पिनर्स रवी चंद्रन अश्विन, अमीत मिश्रा और रवींद्र जडेजा बाएं हाथ के बैटस्मेन गेल के लिए मसाइल पैदा करसकते हैं।

गेल जोकि मुख़्तसर फुटवर्क के ज़रिया गेंदों को मैदान के बाहर पहूँचाने की सलाहियत रखते हैं इसके पेशे नज़र रवी चंद्रन अश्विन राउंड दी विकेट बौलिंग करते हुए गेल को क़ाबू में रखने की हिक्मत-ए-अमली इख़तियार करसकते हैं। अमीत मिश्रा अपनी गेंदों के ज़रिया उन्हें विकेट छोड़कर बैटिंग करने के लिए मदऊ करसकते हैं और एक ग़लत शॉट उन्हें आउट करसकता है।

स्पिनर्स के इलावा महिन्द्र सिंह धोनी अपने फ़ास्ट बौलरों की जोड़ी भुवनेश्वर कुमार और मुहम्मद समी से भी मुतालिबा करचुके हैं कि वो गेल को लैंथ बॉल्स‌ ना डालें क्योंकि इस तरह की गेंदों को वो मैदान के बाहर पहूँचाने की सलाहियत रखते हैं। हिंदुस्तानी बौलरों को जहां क्रीस गेल के सख़्त चाय‌लेंज का सामना है वहीं उनके साथी ओपनर डेविन स्मिथ भी टीम को तेज़ रफ़्तार शुरू फ़राहम करने की सलाहियत रखते हैं जिन्होंने पावर प्ले ओवर्स में मुस्तक़िल बेहतर मुज़ाहरा किया है।

डेविन बरावओ और मार्लोन साइमीवल्स वेस्ट इंडीज़ में ऐसे बैटस्मेन हैं जो किसी भी बौलिंग शोबा को तहस नहस करने की सलाहियत रखते हैं। साइमीवल्स भले ही शुरु में कुछ गेंदें ज़ाए करते हैं लेकिन एक मर्तबा जब उनकी नज़र गेंद पर जम जाते तो फिर वो तेज़ी के साथ रन‌ बनाने के इलावा टीम को एक बड़ा स्कोर भी फ़राहम करसकते हैं जैसा कि उन्होंने 18 माह क़बल कोलंबो के प्रेमा दास स्टेडियम में वर्ल्डकप के फाईनल में किया था।

हिंदुस्तानी बैटस्मेनों को पाकिस्तान के ख़िलाफ़ इबतिदाई मुक़ाबला में एक आसान निशाना हासिल हुआ था लेकिन क़ौमी ओपनर्स शिखर धवन और रोहित शर्मा को बड़े स्कोर के तआक़ुब में भी टीम क बेहतर शुरूआत फ़राहम करना होगा। धवन मुसलसल उछाल लेती गेंदों के ख़िलाफ़ नाकाम होरहे हैं जैसा कि गुजिश्ता रात भी पाकिस्तान बौलर उमर‌ गुल की उछाल लेती गेंद के ख़िलाफ़ वो बाओनडरी पर सईद अजमल के हाथों कैच आउट हुए।

रोहित शर्मा ने भी बेहतर शुरूआत को गंवाई और सईद अजमल को आफ़ ब्रेक गेंद पर बोल्ड हुए हैं। पाकिस्तान के ख़िलाफ़ युवराज सिंह का भी नाकाम होना तशवीश का बाइस है ताहम वीराट कोहली और सुरेश राना के बेहतर मुज़ाहरा से धोनी यक़ीनन मुतमइन होंगे। वेस्ट इंडीज़ में रवी रामपाल, कर शुमार सनटोमी, बरावओ और सुनील नारायण के इलावा डैरिन सिमी एक मज़बूत बौलिंग शोबा बनाते हैं। मजमूई तौर पर वेस्ट इंडीज़ और वन्डे की चैंपिय‌न हिंदुस्तान के ख़िलाफ़ दिलचस्प मुक़ाबले की उम्मीद‌ है।

TOPPOPULARRECENT