Wednesday , December 13 2017

वोटिंग के दिन मोदी की रैली पर उठे सवाल

पटना : बिहार में पीर को पहले मरहले का रायशुमारी हो रहा है। इस मरहले में 10 ज़िलों की 49 सीटों पर वोट डाले जाएंगे। उधर वजीरे आजम नरेंद्र मोदी बिहार के भभुआ में ही इंतिखाबी रैली करने वाले हैं। हालांकि अजीम इत्तिहाद ने वोटिंग के दिन मोदी की रैली पर सवाल उठाए हैं। और एलेक्शन कमीशन से इसकी शिकायत की है। कैमूर जिला इंतेजामिया ने 12 अक्तूबर को भभुआ में वजीरे आजम नरेंद्र मोदी की इजलास के लिए भाजपा को इजाजत दे दी है। वहीं इस मामले को अजीम इत्तिहाद ने एलेक्शन कमीशन के सामने मामला उठाया है। अजीम इत्तिहाद ने एलेक्शन कमीशन का दरवाजा खटखटाते हुए मांग की कि वोटिंग के दौरान पीएम की रैली पर रोक लगायी जाए। या फिर उनकी रैली के टीवी पर लाइव पर रोक लगायी जाए। ऐसा नहीं किया गया तो वोटिंग मुतासीर हो सकती है।

इससे पहले इजलास के लिए भाजपा की तरफ से दूसरा दरख्वास्त देने के बाद सीनियर एडमिनिस्टरेटिव अफसरों ने सनीचर की देर रात एयरपोर्ट मैदान का दौरा कर वहां की कमियों व जरूरतों का जायजा लिया। इस रैली को लेकर दाखला वज़ीर राजनाथ सिंह ने कहा कि भभुआ में वजीरे आजम की रैली होगी या नहीं इसका फैसला एलेक्शन कमीशन करेगा।

आपको बता दें कि इंतेजामीया ने इजलास मुकाम का छोटा होने की वजह से सेक्युर्टी निज़ाम की दिक्कतें मद्देनजर भाजपा का दरख्वास्त खारिज कर दिया था। इसको लेकर भाजपा ने सनीचर को एलेक्शन कमीशन का दरवाजा खटखटाया था। साबिक़ नायब वजीरे आला सुशील कुमार मोदी, रियासती भाजपा के सदर मंगल पांडेय, बिहार भाजपा के इंचार्ज एमपी भूपेंद्र यादव और क़ौमी जेनरल वज़ीर अनिल जैन ने चीफ़ एलेक्शन ओहदेदारों को मेमोरेंडम दिया था।

लीडरों ने इस सिलसिले में बताया था कि 12 अक्तूबर को भभुआ एयरपोर्ट मैदान में वजीरे आजम की इजलास मुकर्रर है, लेकिन वहां के डीएम ने अभी तक इसकी इजाजत नहीं दी है, जबकि एसपीजी ने एएसएल रिपोर्ट में इजलास को हरी झंडी दे दी है।

TOPPOPULARRECENT