Friday , December 15 2017

व्यापमं घोटाले में बिहार के 35 तालिबे इल्म को नोटिस

मध्यप्रदेश के चर्चित व्यापमं घोटाले में बिहार के 35 तालिबे इल्म पर शिकंजा कस गया है। मध्यप्रदेश एसटीएफ के नायब पुलिस सुप्रीटेंडेंट दफ्तर की तरफ से इन तालिबे इल्म को नोटिस जारी की गई है। एसटीएफ की टीम इन तालिबे इल्म के घर पहुंचकर न

मध्यप्रदेश के चर्चित व्यापमं घोटाले में बिहार के 35 तालिबे इल्म पर शिकंजा कस गया है। मध्यप्रदेश एसटीएफ के नायब पुलिस सुप्रीटेंडेंट दफ्तर की तरफ से इन तालिबे इल्म को नोटिस जारी की गई है। एसटीएफ की टीम इन तालिबे इल्म के घर पहुंचकर नोटिस दे रही है। उन्हें नोटिस मिलने के सात दिनों के अंदर एसटीएफ दफ्तर में मौजूद होने का हुक्म दिया गया है।

जिन तालिबे इल्म को नोटिस जारी की गई है, उनमें से कई पीएमटी पास हैं तो कई फेल। ज़राये के मुताबिक, बिहार से अबतक किसी भी नोटिस का जवाब नहीं मिल पाया है। गुजिशता दिनों मध्य प्रदेश से एसटीएफ की टीम आई थी, जिसमें जगन्नाथ साकेत (पीसी), रमेश यादव और राहुल कुमार शामिल थे। इसी टीम ने मधेपुरा के सिंहेश्वर थाना इलाक़े के सुखासन के एक तालिबे इल्म के घर नोटिस रिसीव करवाया। एसटीएफ की टीम बिहार के कई जिलों के ढाई दर्जन दीगर तालिबे इल्म को भी नोटिस पहुंचा रही है।

वहीं पटना मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल ने भी मुल्ज़िम तीन तालिबे इल्म की शिनाख्त कर ली है। जिन तालिबे इल्म की शिनाख्त की गई है उसमें मधेपुरा जिले के सुखियाजन गांव के विशेश्वरी प्रसाद का बेटा मृत्युंजय कुमार है। वह पीएमसीएच में एमबीबीएस पहले साल का तालिबे इल्म है।

कॉलेज इंतेजामिया ने छानबीन की तो पता चला है कि तालिबे इल्म ने मुसलसल क्लास की है लेकिन अभी कॉलेज अहाते से बाहर है। दूसरा तालिबे इल्म नालंदा जिले के सोहसराय के वीरेंद्र कुमार का बेटा रामू कुमार है। वह एमबीबीएस दूसरे साल का तालिबे इल्म है। वह भी पीएमसीएच अहाते में नहीं है। तीसरा तालिबे इल्म श्रीकृष्णसिंह मेडिकल कॉलेज मुजफ्फरपुर का पंकज कुमार गुप्ता है। इस तालिबे इल्म के तालीमी सर्टिफिकेट की छानबीन की जा रही है।

मध्य प्रदेश में दफा 409, 420, 467, 468, 471 और 120 बी के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। इस मामले की छानबीन के लिए मध्यप्रदेश पुलिस ने उदयराम चौहान को अथोरइस्ड किया गया है। जांच अफसर इस सिलसिले में जल्द ही बिहार आने वाले हैं। तीनों तालिबे इल्म पर एमपीपीएमटी इम्तिहान में दूसरे तालिबे इल्म की जगह इम्तिहान देने का इल्ज़ाम है।

जिन तालिबे इल्म को नोटिस जारी की गई है, उनसे इंदौर जिले के राजेंद्र नगर थाने में दर्ज कांड संख्या 539/13 में पूछताछ की जाएगी। यह केस दफा 419/420/467/468/471/201/120 बी, 25/27 आर्म्स एक्ट, 34 आबकारी एक्ट, 65 आईटी एक्ट की दफा 3 (घ) 1, 2/4 के तहत दर्ज है।

इस मामले में अबतक पीएमटी की 250 से ज़्यादा डिग्री को मंसूख किया जा चुका है, जबकि मुखतलिफ़ मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहे 39 और पीजी के दो तालिबे इल्म का दाखिला भी मंसूख किया जा चुका है। साल 2006 से लेकर 2013 तक पीएमटी डिग्री घोटाला हुआ है।

TOPPOPULARRECENT