Saturday , December 16 2017

वज़ीरे आज़म नरेंद्र मोदी की सदर चीन ज़ी जिनपिंग से मुलाक़ात

वज़ीरे आज़म नरेंद्र मोदी ने आज सदर चीन ज़ी जिनपिंग से मुलाक़ात की और समझा जाता है कि सरहदी तनाज़ा का हल तलाश करने की कोशिश की गई। दोनों ममालिक इमकान है कि ख़ुशगवार तरीक़ा से तमाम पेचीदा मसाइल का हल दरयाफ़्त कर सकते हैं।

वज़ीरे आज़म नरेंद्र मोदी ने आज सदर चीन ज़ी जिनपिंग से मुलाक़ात की और समझा जाता है कि सरहदी तनाज़ा का हल तलाश करने की कोशिश की गई। दोनों ममालिक इमकान है कि ख़ुशगवार तरीक़ा से तमाम पेचीदा मसाइल का हल दरयाफ़्त कर सकते हैं।

अगर ऐसा हो जाए तो ये एक मिसाल क़ायम करेगा। पूरी दुनिया तनाज़आत में इज़ाफ़ा से परेशान हैं और तमाम तनाज़आत का पुरअमन हल चाहती है। दोनों क़ाइदीन ब्रिक्स चोटी कान्फ़्रैंस में शिरकत के लिए तक़रीबन बैयकवक़्त फोर्ट अलीज़ो पहुंचे और इस के कुछ ही देर बाद दोनों के दरमयान समझा जाता है कि अच्छे तबादले ख़्याल और अच्छी मुलाक़ात में मसरूफ़ हो गए।

ये इजलास दोनों क़ाइदीन की अव्वलीन मुलाक़ात थी जो 40 मिनट के लिए मुक़र्रर थी ताहम 80 मिनट जारी रही। किसी हदूद के बगै़र आज़ादाना तौर पर तबादले ख़्याल किया गया। सदर चीन ज़ी जिनपिंग ने वसीअ तर मसाइल पर तबादले ख़्याल किया।

नरेंद्र मोदी ने मुलाक़ात के बाद अपने ट्वीटर पर तहरीर किया कि बरसरे इक़्तेदार चीनी कम्यूनिस्ट पार्टी के जेनरल सेक्रेट्री भी मुज़ाकरात में शरीक थे। दोनों फ़रीक़ैन ने सरहदी तनाज़ा की यक्सूई पर ज़ोर दिया। वज़ीरे आज़म नरेंद्र मोदी ने बाहमी एतेमाद के इस्तिहकाम और तसलसुल पर ज़ोर दिया।

TOPPOPULARRECENT