Friday , December 15 2017

वज़ीरे दाख़िला सुशील कुमार शिंदे का कल दौरा-ए-जम्मू-ओ-कश्मीर

बेन उल-अक़वामी सरहद का मुआइना और सूरत-ए-हाल का जायज़ा लेंगे

बेन उल-अक़वामी सरहद का मुआइना और सूरत-ए-हाल का जायज़ा लेंगे

हिंद-पाक सरहद पर मुसलसल कशीदगी के दरमियान जहां जंग बंदी की ख़िलाफ़ वरज़ीयां हो रही हैं, वज़ीरे दाख़िला सुशील कुमार शिंदे मंगल के दिन जम्मू-ओ-कश्मीर के इन् दूर दराज़ वाले इलाक़ों का दौरा करेंगे। दौरे के दौरान सुशील कुमार शिंदे बॉर्डर सिक्योरिटी फ़ोर्स की जानिब से निगरानी वाली चंद चौकियों का मुआइना करेंगे।

वो बेन उल-अक़वामी सरहद का मुआइना करेंगे और सूरत-ए-हाल का जायज़ा लेंगे। वज़ीरे दाख़िला तवक़्क़ो है कि चीफ मिनिस्टर उमर अबदुल्लाह से मुलाक़ात करेंगे। सिक्योरिटी के आला ओहदेदारों से भी मुलाक़ात करेंगे। वो रियासती-ओ-मर्कज़ी हुकूमत के ओहदेदारों से बात चीत करेंगे।

शिंदे ने कहा कि में सरहदी इलाक़ों का दौरा करूंगा और सूरत-ए-हाल का जायज़ा लूंगा। बेन उल-अक़वामी सरहद और ख़ित्ता क़बज़ा पर मुतवातिर कशीदगी पाई जाती है। इस साल के अवाइल से पाकिस्तान की फ़ौज शलबारी कर रही है। बला इश्तिआल फायरिंग की जा रही है। तकरीबन एक दर्जन सिपाही हलाक होचुके हैं और दीगर कई सिपाही ज़ख़मी हैं।

अब तक की गई जंग बंदी की ख़िलाफ़ वरज़ीयों से इंसानी जानों को नुक़्सान पहुंचा है। कम अज़ कम 14 हिन्दुस्तानी दूर दराज़ इलाक़े में वाक़्य चौकियां और शहरी इलाक़ों में जुमा की रात से फायरिंग की आवामें आरही हैं। इस से फ़ौरी हरकत में आते हुए बी एस एफ ने पाकिस्तानी रेंजर्स से अपना एहतेजाज दर्ज करवाया है। बी एस एफ जो बेन उल-अक़वामी सरहद की निगरानी करती है, विज़ारत-ए-दाख़िला के तहत है।

TOPPOPULARRECENT