Monday , December 18 2017

वज़ीर-ए-आज़म रेस कोर्स रोड की सरकारी क़ियामगाह मुंतक़िल

तक़रीब हलफ़ बर्दारी के 5 दिन बाद नरेंद्र मोदी आज रेस कोर्स रोड पर वज़ीर-ए-आज़म की सरकारी क़ियामगाह मुंतक़िल होगए। वो आरिज़ी तौर पर गुजरात भवन में मुक़ीम थे।

तक़रीब हलफ़ बर्दारी के 5 दिन बाद नरेंद्र मोदी आज रेस कोर्स रोड पर वज़ीर-ए-आज़म की सरकारी क़ियामगाह मुंतक़िल होगए। वो आरिज़ी तौर पर गुजरात भवन में मुक़ीम थे।

वो आज सुबह 5 रेस कोर्स रोड मुंतक़िल हुए और वहां मुख़्तसर से वक़्त के लिए पूजा की। उनकी मिल्कियत की बेशतर अशीया 5 रेस कोर्स रोड मुंतक़िल करदी गई हैं।

ये बंगला वज़ीर-ए-आज़म की साबिक़ रिहायश गाह 7 नंबर के बंगले के बजाय नरेंद्र मोदी के लिए मुंतखिब किया गया है। उनके तमाम पेशरू 7 रेस कोर्स रोड पर क़ियाम करते थे।

वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह ने अपनी रेस कोर्स रोड की क़ियामगाह का नरेंद्र मोदी की बहैसियत नए वज़ीर-ए-आज़म हलफ़ बर्दारी के फ़ौरी बाद तख़लिया कर दिया था। चुनांचे अज़सर-ए-नौ तज़ईन-ओ-आराइश की जा रही थी। मोदी 7 रेस कोर्स रोड के बंगले को अपने दफ़्तर के तौर पर इस्तेमाल करेंगे।

TOPPOPULARRECENT