Sunday , September 23 2018

वज़ीफ़ा ख़ार आधार नंबर बैंक में दर्ज करवाएं

नई दिल्ली मर्कज़ का हुक्मनामा । बला रुकावट पैंशन इजराई के लिए इक़दाम का इद्दिआ

नई दिल्ली

मर्कज़ का हुक्मनामा । बला रुकावट पैंशन इजराई के लिए इक़दाम का इद्दिआ

मर्कज़ी हुकूमत के तमाम वज़ीफे याबों को चाहिए कि वो वज़ीफे के हुसूल में किसी भी रुकावट और मसाइल से बचने अपने आधार नंबर्स बैंकों में रजिस्टर करवाएं । वज़ीर बराए पर्सोनल अवामी शिकायात-ओ-पैंशन ने एक हुक्मनामा जारी करते हुए कहा कि तमाम वज़ीफ़ा याबों यह फैमिली वज़ीफ़ायाबों को मश्वरा दिया जाता है कि वो आधार नंबर बैंकों में रजिस्टर करवाएं और उसकी इत्तेलाआत मुताल्लिक़ा अथॉरीटी को फ़राहम करें।

ये अमल जल्द मुकम्मल किया जाना चाहिए ताकि नवंबर 2015 में सदाक़तनामा हयात पेश करते वक़्त कोई तकलीफ़ ना होने पाए। उन्होंने कहा कि ये इक़दाम वज़ीफ़ायाबों में वज़ीफे की किसी रुकावट के बगैर तक़सीम को यक़ीनी बनाने किया जा रहा है। वज़ीरे आज़म नरेंद्र मोदी ने गुज़िशता साल नवंबर में वज़ीफ़ायाबों के लिए डीजीटल सदाक़तनामा हयात आन लाईन‌ पेश करने आधार से मरबूत बायो मैट्रिक वैरीफिकेशन सिस्टम जीवन पर अमान शुरू किया था।

हुकूमत के हुक्मनामे में कहा गया है कि ये डीजीटल हिन्दुस्तान के वीज़न की सिम्त एक अहम क़दम है। पहले से सदाक़तनामा हयात पेश करने के जो मुरव्वजा तरीके हैं उनके अलावा ये नया तरीका कार मुतआरिफ़ करवाया गया है। कहा गया है कि इस स्कीम का मक़सद वज़ीफ़ा याबों और फैमिली वज़ीफ़ायाबों को किसी रुकावट के बगैर पैंशन की इजराई को यक़ीनी बनाना है। अब वज़ीफ़ा याबों को अपने शख़्सी कंप्यूटर्स से भी डीजीटल सदाक़तनामा हयात पेश करने की सहूलत दस्तियाब होजाएगी।

TOPPOPULARRECENT