Wednesday , September 26 2018

शंकर रामन क़त्ल केस: ख़ातून गवाह को धमकियां आज समाअत

एक मुक़ामी अदालत ने शंकर रामन की अहेलिया की जानिब से दाख़िल कर्दा एक दरख़ास्त की समाअत कल तक के लिए मुल्तवी कर दी है जिसमें उन्होंने गुज़ारिश की है कि इस मुआमला में इन की, इन के बेटे और बेटी से दुबारा पूछताछ की जाए।

एक मुक़ामी अदालत ने शंकर रामन की अहेलिया की जानिब से दाख़िल कर्दा एक दरख़ास्त की समाअत कल तक के लिए मुल्तवी कर दी है जिसमें उन्होंने गुज़ारिश की है कि इस मुआमला में इन की, इन के बेटे और बेटी से दुबारा पूछताछ की जाए।

शंकर रामन क़त्ल के कलीदी मुलज़मीन में कांची सैर जेन्दर सरस्वती और उन के मुआविन विजेंदर सरस्वती शामिल हैं। प्रिंसिपल डिस्ट्रिक्ट-ओ-सेशन जज सी एस मोरोगन ने इस मुआमला की समाअत इस वक़्त कल के लिए मुल्तवी कर दी, जब अर्ज़दाश्त दाख़िल करने वाली ख़ातून पदमा और उन के बेटे आनंद कुमार शर्मा अदालत में हाज़िर नहीं हो सके जिस पर जज ने उन्हें कल अदालत में हाज़िर रहने की तलक़ीन की।

पदमा ने 10 अप्रैल को दरख़ास्त दाख़िल की थी जिस में उन्होंने अदालत से ख़ाहिश की थी कि इन के साथ दुबारा पूछगिछ की जाए, क्योंकि जिस वक़्त 6 अगस्त 2009 -को वो अदालत में बतौर गवाह अपना ब्यान देने आ रही थीं। इस वक़्त अदालत की इमारत के करीब में कुछ नामालूम लोगों ने उन्हें धमकियां दी थीं। आज अदालत में समाअत के दौरान 24 मुलज़मीन के मिनजुमला सिर्फ़ 12 मुल्ज़मीन हाज़िर थे। गैर हाज़िर रहने वालों जेन्दर और विजेंदर सरस्वती भी शामिल हैं।

TOPPOPULARRECENT