Friday , December 15 2017

शंकर राव के ख़िलाफ़ कार्रवाई पर ग़ौर

चीफ़ मिनिस्टर किरण कुमार रेड्डी के ख़िलाफ़ तन्क़ीदें करने वाले साबिक़ वज़ीर( (मंत्री) ) डाक्टर शंकर रावके ख़िलाफ़ कार्रवाई करने सी एलपी कमेटी संजीदगी से ग़ौर कर रही है, जब कि डाक्टर शंकर राव ने कार्रवाई करके दिखाने का चैलेंज किय

चीफ़ मिनिस्टर किरण कुमार रेड्डी के ख़िलाफ़ तन्क़ीदें करने वाले साबिक़ वज़ीर( (मंत्री) ) डाक्टर शंकर रावके ख़िलाफ़ कार्रवाई करने सी एलपी कमेटी संजीदगी से ग़ौर कर रही है, जब कि डाक्टर शंकर राव ने कार्रवाई करके दिखाने का चैलेंज किया है। डाक्टर शंकर राव चीफ़ मिनिस्टर और बद उनवान वुज़रा (मंत्री) के ख़िलाफ़ तन्क़ीदें कर रहे हैं।

कांग्रेस क़ाइदीन ने उन्हें समझाने की कोशिश की, मगर वो मानने तैय्यार नहीं हैं, जिस के बाद सी एलपी के प्रैस हाल को मुक़फ़्फ़ल (लाक)कर दिया गया, मगर दूसरे दिन डाक्टर शंकर राव के एहतिजाज पर कान्फ़्रैंस हाल खोल दिया गया। वाज़ेह रहे कि डाक्टर शंकर राव की जानिब से तन्क़ीदों का सिलसिला जारी है।

उन्हों ने चीफ़ मिनिस्टर की जानिब से तेलंगाना की तरक़्क़ी के सिलसिले में परकाल में की गई तक़रीर की मुज़म्मत करते हुए कहा कि चीफ़ मिनिस्टर ने कांग्रेस उम्मीदवार की ज़मानत ज़बत कराने के लिए इस तरह की तक़रीर की है। वो नहीं चाहते कि रियासत में कांग्रेस मुस्तहकम हो और 2014 -में बरसर-ए-इक्तदार आए। उन्हों ने कहा कि ना तजुर्बा कार चीफ़ मिनिस्टर से कांग्रेस को नुक़्सान पहुंच रहा है और हुकूमत की नेकनामी मुतास्सिर हो रही है।

किरण कुमार रेड्डी चीफ़ मिनिस्टर के ओहदा पर सिर्फ 22 दिन के मेहमान हैं, ज़िमनी इंतिख़ाबात के बाद रियासत में तबदीलीयां आयेंगी । डाक्टर शंकर राव की इन तन्क़ीदों का सी एलपी कमेटी ने सख़्त नोट लिया है। मुसलसल चीफ़ मिनिस्टर और वुज़रा (मंत्री) पर तन्क़ीदें-ओ-इल्ज़ामात आइद करने वाले शंकर राव के ख़िलाफ़ तादीबी कार्रवाई का जायज़ा लिया गया,

ताहम (फिर भी) ज़िमनी इंतिख़ाबात की पेशे नज़र चंद दिनों के लिए ये मुआमला टाल दिया गया। दरीं अस्ना (इस दौरान)जब शंकर राव से बात की गई तो उन्हों ने कहा कि वो कांग्रेस के सिपाही हैं, जब तक सोनीया गांधी और राहुल गांधी का हमारे सिर पर हाथ है हमें कुछ होने वाला नहीं ।

जो लोग उन के ख़िलाफ़ तन्क़ीदें कर रहे हैं या कार्रवाई की सिफ़ारिश कर रहे हैं, वो कांग्रेस और सोनीया गांधी के वफ़ादार नहीं हैं, वो चीफ़ मिनिस्टर के वफ़ादार हैं। उन्हों ने कहा कि वो कांग्रेस के इस्तिहकाम और नेकनामी के लिए जद्द-ओ-जहद कर रहे हैं।

TOPPOPULARRECENT