Saturday , December 16 2017

शंकर सिंह बाघेला के जाने से कोई फर्क नहीं पड़ता- कांग्रेस

नई दिल्ली। कांग्रेस छोडऩे का ऐलान कर चुके कद्दावर नेता शंकर सिंह वाघेला के जाने से आगामी गुजरात विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की संभावनाओं पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ने से साफ इंकार करते हुए पार्टी ने आज कहा कि किसी एक नेता के आने-जाने से मतदाताओं का मन नहीं बदलता।

हालांकि पार्टी ने किसी चेहरे के साथ चुनाव में उतरने के मुद्दे पर अपने पत्ते नहीं खोले। वाघेला के पार्टी छोड़ने के ऐलान से गुजरात के आगामी विधानसभा चुनाव पर पडऩे वाले प्रभाव के बारे में पूछने पर पार्टी प्रवक्ता शक्ति सिंह गोहिल ने कहा, किसी एक नेता के आने-जाने से पूरे राज्य के मतदाताओं का मन बदल जाए, ऐसा नहीं है। हम चाहते थे कि शंकर सिंह वाघेला हमारे साथ रहें।

पार्टी हाईकमान ने भी उनसे बातचीत की थी। उनकी कुछ बातें ऐसी थीं जिन्हें पूरी तरह से मानना संभव नहीं था। फिर भी हमारा मानना है कि हम साथ मिलकर चुनाव लड़ेंगे और गुजरात में हमारी सरकार बनेगी।

उन्होंने कहा कि गुजरात में कांग्रेस पार्टी के पक्ष में बहुत अच्छा माहौल है। राज्य में भाजपा घबराई हुई है क्योंकि उनका खुद का सर्वे कह रहा है कि उनके लिए आगामी राज्य विधानसभा चुनाव में जीतना मुश्किल है।

गोहिल ने स्वीकार किया कि वाघेला की कुछ मांगें थीं जिनमें वर्तमान प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भरत सिंह सोलंकी को बदल कर उन्हें यह जिम्मेदारी दी जाए। उनकी एक मांग यह भी थी कि अभी से ही विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी के प्रत्याशियों के नाम घोषित कर दिये जाएं।

TOPPOPULARRECENT