शराब इंसानी दिमाग को प्रभावित करता है, हिंसक हो सकता है- अॉस्ट्रेलिया के वैज्ञानिक

शराब इंसानी दिमाग को प्रभावित करता है, हिंसक हो सकता है- अॉस्ट्रेलिया के वैज्ञानिक

मेलबर्न। ऑस्ट्रेलिया में न्यू साउथ वेल्स विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों ने वोदका के सम्बन्ध में चौंकाने वाला खुलासा किया है, उनका कहना है कि, केवल 2 गिलास वोदका पीने से मनुष्य की आक्रामकता में बदलाव आ सकता है।

उनके अनुसार वोदका मनुष्य के मस्तिष्क को प्रभावित करती है जिससे वो हिंसक हो सकता है। वैज्ञानिकों ने इस शोध को करने में एम्आरआई स्कैन का सहारा लिया ताकि वे मानवीय मस्तिष्क में हो रहे बदलाव पर अध्ययन कर सके।

विश्वविद्यालय के ही थोमस डेन्सन के नेतृत्व में यह अध्ययन किया गया, जिसमे उन्होंने 50 स्वस्थ युवाओं को चुना। प्रतिभागियों को या तो वोदका युक्त दो गिलास पेय पदार्थ, या किसी शराब के बिना पेय पदार्थ दिए गए।

अध्ययन में जिन लोगों ने एल्कोहल युक्त पेय का इस्तेमाल किया था, उनके व्यवहार में आक्रामकता देखी गई। ऐसे लोगों के मस्तिष्क की सक्रियता में भी कमी देखी गई।

थॉमस ने अपनी शोध के बारे में कहा कि, एल्कोहल से संबंधित आक्रामकता मस्तिष्क के प्रीफ्रंटल कॉर्टेक्स में बदलाव के कारण होती हैं लेकिन इन विचारों को साबित करने के लिए पर्याप्त न्यूरोइमेजिंग सबूत की कमी है।

Top Stories