शर्मनाक- हरियाणा में दो दलितों को भीड़ ने पीटा और उनकी परेड निकाली

शर्मनाक- हरियाणा में दो दलितों को भीड़ ने पीटा और उनकी परेड निकाली

हरियाणा में शुक्रवार (6 अप्रैल) की रात को भीड़ ने दो दलितों को कथित ईश-निंदा के आरोप में पीटा और उनकी परेड निकाली। हिन्दुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक घटना फतेहाबाद जिले के चिनदाद गांव की है। घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। पीटे गए युवकों के नाम सुनील और ढोलू बताए जा रहे हैं। सुनील धारनिया गांव का रहने वाला है जबकि ढोलू चिनदाद गांव का रहने वाला बताया जा रहा है। पीटे गए युवकों के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई गई है। बिश्नोई समाज के संदीप नाम के शख्स ने दोनों युवकों के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। पुलिस में दर्ज शिकायत में बताया गया कि ईश-निंदा के आरोपी दोनों युवक बिश्नोई समाज के गुरु जांभेश्वर के खिलाफ उल-जलूल बोल रहे थे। संदीप ने पुलिस को वह ऑडियो क्लिप भी मुहैया कराई जिसमें बिश्नोई समाज के गुरु के लिए अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया गया था।

संदीप की शिकायत के आधार पर पुलिस ने दोनों युवकों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 295 ए (ईश-निंदा) और 298 (धार्मिक भावनाओं को जानबूझकर चोट पहुंचाने का प्रयास) के तहत मामला दर्ज कर लिया है। सूत्रों के मुताबिक ईश-निंदा के आरोपी दलित युवकों को पीटने वाले लोग बिश्नोई समाज के थे। फतेहाबाद के डीएसपी गुरदयाल सिंह ने कहा कि पुलिस ने पिटाई वाला वीडियो बरामद कर लिया है और तथ्यों की पुष्टि की जा रही है।

डीएसपी गुरदयाल सिंह ने कहा- ”हमने दो ईश-निंदा की शिकायत के चलते दो दलितों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। अब हमने वीडियो बरामद कर लिया है जिसमें वे पीटते हुए दिखाई दे रहे हैं। वीडियो के आधार पर आरोपी की पहचान की जाएगी और उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।” बता दें कि बीते कुछ दिनों से देश के कई हिस्सों से दलित उत्पीड़न की खबरें आ रही हैं। बीते दिनों 2 अप्रैल को किए गए भारत बंद के बाद से ऐसी खबरों में खासा इजाफा देखा जा रहा है। दलित संगठनों ने सुप्रीम कोर्ट के द्वारा एससी/एसटी एक्ट में किए गए बदलाव के विरोध में भारत बंद का आह्वान किया था।

Top Stories