Monday , December 18 2017

शहर में जियादा बम धमाकों का अंदेशा बरक़रार

हैदराबाद 25 फ़रवरी:रियास्ती बी जे पी ने कहा है कि दिलसुखनगर के मुक़ाम पर पिछले तीन दिन पहले पेश आए दो बम धमाकों के वाक़ियात की ज़िम्मेदारी लश्कर-ए-तेबा दहश्तगर्द तंज़ीम ने क़बूल करली है । लश्कर-ए-तेबा की तारफ से तहरीर करदा मौसूला एक पो

हैदराबाद 25 फ़रवरी:रियास्ती बी जे पी ने कहा है कि दिलसुखनगर के मुक़ाम पर पिछले तीन दिन पहले पेश आए दो बम धमाकों के वाक़ियात की ज़िम्मेदारी लश्कर-ए-तेबा दहश्तगर्द तंज़ीम ने क़बूल करली है । लश्कर-ए-तेबा की तारफ से तहरीर करदा मौसूला एक पोस्टकार्ड के ज़रीये बम धमाकों के वाक़ियात की ज़िम्मेदारी कुबूल करते हुए कहा गया हीके अब आइन्दा इन का निशाना शहर हैदराबाद के मशहूर मुक़ाम बेगम बाज़ार होगा ।

आज यहां अख़बारी नुमाइंदों से बातचीत करते हुए सदर रियास्ती बी जे पी-ओ-रुकन एसम्ब्ली जी किशन रेड्डी ने इस बात का इन्किशाफ़ किया और बताया कि उन्हें मेसूला लश्कर-ए-तेबा का पोस्टकार्ड पुलिस आबडज़ के हवाले कर दिया गया है ।

उन्हों ने ये कहा कि पुलिस ने इस मेसूला पोस्टकार्ड का किसी से इज़हार ना करने की पुलिस ने उन्हें सख़्त हिदायत की है । सदर रियास्ती बी जे पी ने दिलसुखनगर में पेश आए दो बम धमाकों के वाक़ियात के लिए मर्कज़ी-ओ-रियास्ती हुकूमतों दोनों को ही बराबर का ज़िम्मेदार क़रार दिया क्योंकि मर्कज़ी वज़ीर-ए-दाख़िला का ये बयान कि दहश्तगर्द वाक़ियात के इमकानात से रियास्ती हुकूमतों को क़बल अज़ वक़्त ही वाक़िफ़ करवाया गया था जबकि रियास्ती हुकूमत इस तरह के वाक़ियात की इतेलाआत की तरदीद कररही है और मर्कज़ी वर्यासती हुकूमतें तज़ाद बयानी से काम ले रही हैं ।

सदर रियास्ती बी जे पी ने वज़ीर-ए-आज़म डाक्टर मनमोहन सिंह के मुख़्तसर दौरा हैदराबाद को अपनी सख़्त तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए कहा कि वो आए और चले गए किसी मरने वाले के अफ़राद ख़ानदान से कम अज़ कम मुलाक़ात करना तक गोवाराह नहीं किया ।

और ना ही मरने वाले के अफ़राद ख़ानदान और शदीद ज़ख़मीयों को मर्कज़ की तारफ से बेहतर माली इमदाद फ़राहम करने के लिए लब कुशाई तक नहीं की जबके वज़ीर-ए-आज़म के दौरा हैदराबाद से दहश्तगर्दी के ख़ातमे के लिए सख़्त बयान दीए जाने की क़वी तवक़्क़ो की जा रही थी लेकिन रिवायती अंदाज़ में मुक़ाम वाक़िये का फ़र्ज़ की तकमील के तौर पर दौरा किया और फ़ौरी वापिस होगए ।

उन्हों ने कहा कि यू पी ए हुकूमत के 9 साला दौर-ए-हकूमत में अब तक जुमला 41दहश्तगर्द वाक़ियात पेश आए और ज़ाइद अज़ एक हज़ार अफ़राद की हलाकत वाक़्ये हुई ।

TOPPOPULARRECENT