Thursday , December 14 2017

शहला मसऊद केस बी जे पी रुकन असेंबली असल मुल्ज़िम

आर टी आर कारकुन शहला मसऊद क़त्ल केस की एक मुल्ज़िम सबा फ़ारूक़ी ने आज इल्ज़ाम आइद किया कि सी बी आई अपनी तहकीकात में बी जे पी के रुकन असेंबली ध्रुव नारायण सिंह को बचाने की कोशिश कर रही है । सबा फ़ारूक़ी ने सी बी आई अदालत जाते हुए रास्ता में स

आर टी आर कारकुन शहला मसऊद क़त्ल केस की एक मुल्ज़िम सबा फ़ारूक़ी ने आज इल्ज़ाम आइद किया कि सी बी आई अपनी तहकीकात में बी जे पी के रुकन असेंबली ध्रुव नारायण सिंह को बचाने की कोशिश कर रही है । सबा फ़ारूक़ी ने सी बी आई अदालत जाते हुए रास्ता में सहाफ़ीयों से बात चीत करते हुए एक सवाल के जवाब में बताया कि इस क़त्ल केस में बी जे पी रुकन असेंबली ध्रुव नारायण असल मुल्ज़िम हैं और सी बी आई उन्हें बचा रही है ।

सबा इस केस की एक और अहम मुल्ज़िम ज़ाहिदा परवेज़ की करीबी साथी बताई गई हैं। उन्होंने सवाल किया कि अगर इस केस में मिस्टर नारायण मुल्ज़िम नहीं हैं तो फिर बी जे पी ने रियासती यूनिट के नायब सदर की हैसियत से उन का इस्तीफ़ा क्यों तलब कर लिया । ये वाज़ख़ करते हुए ज़ाहिदा परवेज़ को इस केस में ग़लत अंदाज़ में माख़ूज़ किया जा रहा है सुबह ने इल्ज़ाम आइद किया कि सी बी आई को इस केस से मुताल्लिक़ एक सी डी भी मौसूल हुई है लेकिन सी बी आई इस का इन्केशाफ़ नहीं कर हरी है ।

सुबह को आज शहला मसऊद क़त्ल केस में ख़ुसूसी जज जोडीशील मजिस्ट्रेट शुभ्रा सिंह की अदालत में पेश किया गया ताहम उन्होंने ताज़ीरात ए हिंद की दफ़ा 164 के तहत कोई ब्यान रीकॉर्ड करवाने से इनकार कर दिया । पब्लिक प्रासीक्यूटर हेमंत शुक्ला ने कहा कि सुबह फ़ारूक़ी की जानिब से बयान रेकॉर्ड करवाने से इनकार के बावजूद इस केस पर कोई असर नहीं होगा क्योंकि सी बी आई के पास इस केस के सिलसिला में काफ़ी सुबूत मौजूद है ।

सी बी आई ने इस क़त्ल केस के सिलसिला में ध्रुव नारायण सिंह से गुज़शता महीने पूछताछ की थी । सी बी आई इब्तिदाई तहकीकात में कहा गया है कि ज़ाहिदा परवेज़ ने शहला मसऊद की रुकन असेंबली से क़ुरबत से हसद महसूस करते हुए इन का क़त्ल करवाया था ।

TOPPOPULARRECENT