Wednesday , September 26 2018

शहाबुद्दीन को हाज़िर करने का हुक्म

फास्ट ट्रैक कोर्ट पंचम दिलकेश्वर राम ने मंडल जेल सुप्रीटेंडेंट को आठ मई को साबिक़ एमपी मो.

फास्ट ट्रैक कोर्ट पंचम दिलकेश्वर राम ने मंडल जेल सुप्रीटेंडेंट को आठ मई को साबिक़ एमपी मो. शहाबुद्दीन को मंडल जेल वाकेय खुसुसि अदालत में मौजूद करने का हुक्म दिया है। बता दें कि इतवार को एलेक्शन कमीशन की हिदायत और जेल के हुक्म पर उन्हें मंडल जेल सीवान से गया सेंट्रल जेल में ट्रांसफर किया गया था। इस सिलसिले में साबिक़ एमपी के वकील अभय कुमार राजन और मो जकरिया आलम ने तेजाब कांड में दस्तावेज़ तलब कर एक दरख्वास्त दिया है कि क्रिमिनल रिविजन 512/13 के मामले में पटना हाइ कोर्ट की तरफ से निचली अदालत को मामले के फौरन अमलदार आमद का हुक्म दिया है। इस मामले में आठ मई को सुबूत के लिए तारीख मुकर्रर है। इसलिए ये तारीख को मंडल जेल में तशकील खुसुसि अदालत में मो. शहाबुद्दीन का मौजूदा रहना जरूरी है। खुसुसि अदालत के इंचार्ज जज दिलकेश्वर राम ने मो शहाबुद्दीन के वकील अभय कुमार राजन और एसिस्टेंट रघुवर सिंह की बहस सुनी। एसिस्टनेट ने जज के सामने कहा कि खुसुसि अदालत का हक़ नहीं हासिल है, इसलिए इस दरख्वास्त को दस्तावेज़ पर रखा जाये। इस पर हुक्म नहीं दिया जाये। दोनों फरीक़ की सुनवाई करने के बाद फास्ट ट्रैक पांच ने कहा कि दस्तावेज़ को खुसुसि जज के पास सुनवाई के लिए रखा जाये। साथ ही आठ मई को शहाबुद्दीन को गया सेंट्रल जेल से मंडल जेल सीवान की खुसुसि अदालत में हाजिर किया जाये।

TOPPOPULARRECENT