मशहूर तेजाब कत्ल कांड में शहाबुद्दीन मुजरिम करार, सजा 11 दिसंबर को

मशहूर तेजाब कत्ल कांड में शहाबुद्दीन मुजरिम करार, सजा 11 दिसंबर को

सीवान : मशहूर तेजाब कत्ल कांड मामले में आज अदालत ने राजद के साबिक़ एमपी मो शहाबुद्दीन को मुजरिम करार दिया है।  मो शहाबुद्दीन को 11 दिसंबर को सजा सुनाई जाएगी। साबिक़ एमपी को दफा  302, 201, 364 ए, 120 बी के तहत मुजरिम पाया गया है। गुजिशता  11 सालों तक चली अदालती कार्रवाई के बाद आज इस मामले पर आने वाले फैसले का मुतासीर अहले खाना को बेसब्री से इंतजार था।  कलावती देवी के बयान पर उनके बेटे सतीश कुमार उर्फ सोनू व गिरीश कुमार का यरगमाल कर कत्ल कर देने का मुकदमा दर्ज हुआ था़

मुकदमे के तहक़ीक़ात के दौरान मौजूदा एमपी मो शहाबुद्दीन पर वाकिया का साजिश रचने का मामला सामने आया। इस मुकदमे में खुसुसि अदालत ने 4 जून, 2010 को दफा 120 (बी), 364 (ए) में साजिश व यरगमाल का इल्ज़ाम लगाया गया। बाद में हाइ कोर्ट के हुक्म पर कोर्ट ने एक मई ,2014 को दफा 302, 201, 120 बी के तहत इल्ज़ाम तशकील किया, जिसके बाद दुबारा गवाही हुई।

अदालती अमल के दौरान ही मरने वाले के भाई व वाकिया के चश्मदीद गवाह राजीव रोशन की कत्ल 16 जून, 2014 को हो गयी। स्पीडी ट्रायल के तहत मंडल जेल में ही शुरू हुई सुनवाई हाइकोर्ट के हुक्म पर मुकदमे का जल्द कार्रवाई के लिए मंडल जेल सीवान में ही खुसुसि अदालत की तशकील कर सुनवाई शुरू हुई, जिसमें इल्ज़ाम तहक़ीक़ात करने वाले की तरफ से दाखिल किये जाने के बाद इल्ज़ाम तशकील हुई और इसके बाद गवाही व सुनवाई के बाद गुजिशता एक हफ्ताह पहले कोर्ट ने फैसला महफूज़ रखते हुए नौ दिसंबर दिन बुध को फैसला सुनाने का हुक्म दिया है।

Top Stories