Tuesday , December 12 2017

शादीशुदा ज़िंदगी को ख़ुशगवार बनाने, मुफ़ाहिमाना रवैया इख्तियार करने का मश्वरा

हैदराबाद 28 जनवरी (सियासत न्यूज़) जनाब ज़ाहिद अली ख़ांन एडीटर सियासत ने आज कहा कि मुस्लिम मुआशरा में तलाक़ और खुला के बढ़ते हुए वाक़ियात अफ़सोसनाक और संगीन सूरते हाल का बाइस बने हुए हैं।

हैदराबाद 28 जनवरी (सियासत न्यूज़) जनाब ज़ाहिद अली ख़ांन एडीटर सियासत ने आज कहा कि मुस्लिम मुआशरा में तलाक़ और खुला के बढ़ते हुए वाक़ियात अफ़सोसनाक और संगीन सूरते हाल का बाइस बने हुए हैं।

चुनांचे अभी चंद दिन पहले एक अंग्रेज़ी अख़बार ने सर्वे शाए किया है जिस में कहा गया कि पूरे मुल्क में तलाक़ और खुला के केसेस में आंध्र प्रदेश और खासतौर पर हैदराबाद सरे फ़ेहरिस्त है।उन्हों ने कहा कि उल्मा, क़ाइदीन और ज़ी असर अस्हाब को चाहीए कि वो इस सूरते हाल के तदारुक के लिए कोई मुसबत और ठोस लाएह अमल तय करें।

जनाब ज़ाहिद अली ख़ांन आज यहां महबूब हुसैन जिगर हाल में माइनॉरिटीज डेवलपमेंट फ़ोरम और इदारा सियासत के ज़ेरे एहतिमाम अक़्दे सानी के लिए बरसर मौक़ा रिश्ते तय करने के पहले दूबदू मुलाक़ात प्रोग्राम को मुख़ातब कर रहे थे।

उन्हों ने कहा कि मुहल्ला वारी सतह पर ऐसी कमेटियां क़ायम की जानी चाहीए जहां मुहल्ला के बाअसर अस्हाब तलाक़ और खुला से बचाने के लिए वालिदैन और सरपरस्तों से गुफ़्तो शुनीद करें और ख़ानदानों को तबाही और बर्बादी से बचाएं।

उन्हों ने एलान किया कि रोज़नामा सियासत में तलाक़ या खुला का कोई इश्तिहार शाए नहीं किया जाएगा। सरकार दो जहां हुज़ूर अकरम (स०अ०व०) के नज़दीक तलाक़ सब से ना पसंदा अमल है।

जनाब ज़ाहिद अली ख़ांन ने कहा कि मुसलमानों को चाहीए कि वो शादीयों को आसान बनाए और इसराफ़ और फुज़ूल खर्ची से गुरेज़ करें। इसी तरह लड़कीयों के इंतिख़ाब में भी मुश्किल सूरत को एहमीयत देने के बजाय नेक सीरत, मिलनसार और बाक़िरदार लड़की को अव्वलीन तर्जीह दें।

उन्हों ने कहा कि इदारा सियासत और एम डी एफ़ ने एक तहरीक के तौर पर इस काम को शुरू किया है जिस के समरावर नताइज बरामद हो रहे हैं। उन्हों ने कहा कि अक़्दे सानी के लिए दूबदू प्रोग्राम में तीन हज़ार से ज़ाइद वालिदैन और सरपरस्तों ने शिरकत की जिन में ऐसे लड़कों और लड़कीयों के लिए भी रिश्ते हैं जिन की शादीयों में ताख़ीर के बाइस उन की उम्र में इज़ाफ़ा हुआ है।

जनाब मुहम्मद ताज उद्दीन डिप्टी डायरेक्टर लोक आयुक्त ने कहा कि शादी के बाद के तनाज़आत और झगड़ों की यकसूई के लिए हर हफ़्ता को 5 ता 7 शाम कौंसलिंग मुक़र्रर की गई है जिस से मुसलमान इस्तिफ़ादा करें। इब्तिदा में डाक्टर ऐयूब हैदरी की करअत कलाम पाक से जलसा का आग़ाज़ हुआ।

जनाब आबिद सिद्दीक़ी सदर इस्लाह मुआशरा कमेटी ने कहा कि इस प्रोग्राम में इतनी बड़ी तादाद में अवाम की ग़ैर मुतवक़्क़े शिरकत के बाइस कमेटी ने फ़ैसला किया है कि आइन्दा पंद्रह दिनों में अक़्दे सानी के लिए किसी बड़े मुक़ाम पर ख़ुसूसी दूबदू प्रोग्राम मुनाक़िद किया जाए ।

उन्हों ने वालिदैन और सरपरस्तों से इज़हार माज़रत किया कि उन्हें जगह की तंगी के बाइस ज़हमत उठानी पड़ी। उन्हों ने उम्मीद ज़ाहिर की कि इस संगीन मसअला को हल करने के लिए बाक़ायदा और मुनज़्ज़म तौर पर कोशिशें की जाएंगी।

उन्हों ने इस प्रोग्राम की कामयाबी के लिए एम डी एफ़ के अरकान, सियासत के स्टाफ़ और सहाफ़त से इज़हारे तशक्कुर किया।

TOPPOPULARRECENT