Tuesday , September 25 2018

शामी अमन मुज़ाकरात को यक़ीनी बनाने अमरीका और रूस की मसाई

अमरीका और रूस ने तवील अर्सा से तात्तुल पज़ीर शामी अमन मुज़ाकरात के कामयाब इनेक़ाद को यक़ीनी बनाने के लिए अपनी कोशिशों में शिद्दत पैदा कर दिए हैं।

अमरीका और रूस ने तवील अर्सा से तात्तुल पज़ीर शामी अमन मुज़ाकरात के कामयाब इनेक़ाद को यक़ीनी बनाने के लिए अपनी कोशिशों में शिद्दत पैदा कर दिए हैं।

अक़वामे मुत्तहिदा ने कहा है कि शामी अमन मुज़ाकरात 22 जनवरी को मुनाक़िद होगी अगर्चे ये वाज़ेह नहीं हो सका है कि आया मुत्तहरिब ग्रुपों के कलीदी स्पांसर्स इस कान्फ़्रैंस में शरीक होंगे या नहीं।

अक़वामे मुत्तहिदा और अरब लीग के सालिसी अल अख़्ज़र ब्राहिमी ने कहा है कि हम ने शुरका की फ़ेहरिस्त को अभी तक क़तैईयत नहीं दी है जिस से क्यास किया जा सकता है कि सऊदी अरब भी मुज़ाकरात में हिस्सा ले सकता है।

ये ख़लीजी मुल्क शाम में सदर बशारुल असद हुकूमत के ख़िलाफ़ लड़ने वाले सुन्नी मुस्लिम बागियों को स्पांसर कर रहा है। नेज़ मुज़ाकरात में ईरान की शमूलीयत भी मुतवक़्क़े है।

वाज़ेह रहे कि शाम में हुकूमत के ख़िलाफ़ बागियों की शोर्श के नतीजा में ताहाल 100,000 शहरी हलाक और दीगर कई लाख शहरी बेघर हो गए और पड़ोसी मुल्कों में पनाह गुज़ीनों की हैसियत से ज़िंदगी बसर कर रहे हैं।

TOPPOPULARRECENT