Monday , December 18 2017

शामी हुकूमत का दोमा पर हमला जंगी जुर्म है – अक़वामे मुत्तहिदा

अक़वामे मुत्तहिदा के सियासी शोबे के सरब्राह ने शाम के दारुल हुकूमत दमिश्क़ के नवाह में वाक़े शहर दोमा पर गुज़िश्ता इतवार को असद हुकूमत के फ़िज़ाई हमले को जंगी जराइम क़रार दिया है।

इस फ़िज़ाई हमले में एक सौ अफ़राद हलाक और दोसौ से ज़्यादा ज़ख़्मी हो गए थे। जेफ्रे फ़ेल्ट मैन ने अक़वामे मुत्तहिदा की सलामती कौंसिल में बुध को बयान देते हुए कहा है कि दोमा पर फ़िज़ाई हमला एक और जंगी जुर्म है और इस के ज़िम्मे दारों को एहतिसाब के कटहरे में लाया जाना चाहिए।

सलामती कौंसिल के बंद कमरे के इजलास में शाम की सूरते हाल पर ग़ौर किया जा रहा है और उसने तहरीर दोमा में एक मसरूफ़ बाज़ार पर तबाहकुन बमबारी की मुज़म्मत में बयान जारी नहीं किया है।

TOPPOPULARRECENT