शामी (Syrian) बागियों के ठिकानो पर हमले

शामी  (Syrian) बागियों के ठिकानो पर हमले
शाम ( Syria) के शहर हलब में तीसरे रोज़ भी झड़पें जारी रहीं। गुज़श्ता रोज़ मुल्क भर में सिक्योरिटी फ़ोर्सेस ( सुरक्षा कर्मी) की कार्यवाईयों और झड़पों में 41 अफ़राद ( लोग) हलाक हो ( मारे) गए । शाम ( सीरीया) के मआशी दार-उल-हकूमत ( राजधानी) हलब में

शाम ( Syria) के शहर हलब में तीसरे रोज़ भी झड़पें जारी रहीं। गुज़श्ता रोज़ मुल्क भर में सिक्योरिटी फ़ोर्सेस ( सुरक्षा कर्मी) की कार्यवाईयों और झड़पों में 41 अफ़राद ( लोग) हलाक हो ( मारे) गए । शाम ( सीरीया) के मआशी दार-उल-हकूमत ( राजधानी) हलब में सरकारी फ़ौज ने डिस्ट्रिक्ट सलाह उद्दीन से मुज़ाहमत कारों ( हस्तक्षेप/ रुकावट करने वालो) को निकालने के लिए गनशिप हेलीकॉप्टरों का इस्तेमाल किया।

सरकारी फ़ौज ने दावा किया है कि उन्होंने हलब का कंट्रोल हासिल कर लिया है जबकि फ़्री सीरियन आर्मी ने ख़बरों की तरदीद ( खंडन) करते हुए कहा है कि शहर के 35 से 40 फ़ीसद इलाक़े पर इन का क़बज़ा बरक़रार है । झड़पों के बाइस ( कारण) हलब से तक़रीबन दो लाख अफ़राद नक़्ल-ए-मकानी कर चुके हैं जिस पर अक़वाम-ए-मुत्तहिदा (‍‍UN) ने ख़बरदार करते हुए कहा है कि बड़ा इंसानी सानिहा (मानवीय दुर्घटना) पेश आ सकता है। फ़्रांस ने कहा है कि वो शाम ( Syria) की सूरत-ए-हाल ( वर्तमान हालात) पर अक़्वाम ए मुत्तहिदा ( UN) की सलामती कौंसल का हंगामी ( अस्थायी) इजलास ( सभा) तलब करने का मुतालिबा करेगा।

Top Stories