शाम का इलाक़ा यरमूक क़त्लगाह लगने लगा है – अक़्वामे मुत्तहदा

शाम का इलाक़ा यरमूक क़त्लगाह लगने लगा है – अक़्वामे मुत्तहदा
शाम में चार साल से जारी जंग के बारे में बाण्की मून ने कहा कि यरमूक में फ़लस्तीनीयों के मुहाजिर कैम्पों पर दाइश के हमले से जंग एक नई पस्ती में चली गई है।

शाम में चार साल से जारी जंग के बारे में बाण्की मून ने कहा कि यरमूक में फ़लस्तीनीयों के मुहाजिर कैम्पों पर दाइश के हमले से जंग एक नई पस्ती में चली गई है।

अक़्वामे मुत्तहदा के सेक्रेट्री जेनरल ने बैनुल अक़वामी बिरादरी से अपील की कि दुनिया यरमूक के लोगों को तन्हा छोड़कर इस क़त्ले आम को जारी नहीं रहने दे सकती।

अक़्वामे मुत्तहदा के सेक्रेट्री जेनरल बाण्की मून ने ख़बरदार किया है कि जुमेरात को शाम और यमन में शहरीयों को जानबूझ कर मसाइब में छोड़ा जा रहा है।

उन्हों ने बैनुल अक़वामी बिरादरी पर ज़ोर दिया कि वो तशद्दुद के ख़ात्मे और शहरीयों की बेहतर हिफ़ाज़त के लिए काम करें। बाण्की मून ने कहा कि शाम की ख़ौफ़नाक सूरते हाल में यरमूक का हाल दोज़ख़ की एक गहरी खाई जैसा है।

Top Stories