Saturday , November 18 2017
Home / Islami Duniya / शाम का मुआमला सलामती कौंसल को भेजा जाय

शाम का मुआमला सलामती कौंसल को भेजा जाय

क़ाहिरा 23 जनवरी (ए एफ़ पी) अरब लीग के वुज़रा-ए-ख़ारजा का इजलास मिस्र के दार-उल-हकूमत क़ाहिरा में हुआ शाम में हिज़्ब-ए-इख़तिलाफ़ की क़ौमी कौंसल ने बाज़ाबता तौर पर अरब लीग से मुतालिबा किया कि वो शाम के बोहरान का मुआमला अक़्वाम-ए-मुत्त

क़ाहिरा 23 जनवरी (ए एफ़ पी) अरब लीग के वुज़रा-ए-ख़ारजा का इजलास मिस्र के दार-उल-हकूमत क़ाहिरा में हुआ शाम में हिज़्ब-ए-इख़तिलाफ़ की क़ौमी कौंसल ने बाज़ाबता तौर पर अरब लीग से मुतालिबा किया कि वो शाम के बोहरान का मुआमला अक़्वाम-ए-मुत्तहदा की सलामती कौंसल से रुजू करने मिस्र के दार-उल-हकूमत क़ाहिरा में कौंसल की एक तर्जुमान बसमा-ए-अलकदामनी का ख़्याल था कि अगर अरब लीग ये मसला सलामती कौंसल में उठाए तो शाम के ख़िलाफ़ पाबंदीयों की मुख़ालिफ़त करने वाले मुल्कों चीन और रूस को अपनी हिकमत-ए-अमली पर नज़रसानी करना पड़ेगी।

शाम में मौजूद मुबस्सिरीन के मिशन के मुस्तक़बिल के बारे में फ़ैसला मुतवक़्क़े है।अरब लीग कि मुबस्सिरीन शदीद तन्क़ीद से दो-चार हैं कि वो हक़ायक़ सामने लाने में नाकाम रहे।इजलास से क़बल शामी क़ौमी कौंसल के सरबराह बुरहान गालीवन ने अरब लीग के सैक्रेटरी जनरल से मुलाक़ात की जिस में उन्हों ने ख़बरदार किया कि वो अरब लीग के मुबस्सिरीन की तहक़ीक़ाती रिपोर्ट मुस्तर्द कर देंगे।

उन्हों ने कहा शामी क़ौमी कौंसल के ख़्याल में जिन हालात में और जितने महिदूद वसाइल के साथ अरब लीग के मुबस्सिरीन ने काम किया उन की वजह से एक जामि रिपोर्ट सामने आना मुम्किन नहीं जो शामी अवाम, वहां के हालात और बैन-उल-अक़वामी राय की दरुस्त अक्कासी करे। उन्हों ने कहा कि अगर इजलास में कोई रिपोर्ट पेश की गई तो हमारे ख़्याल में जामि नहीं हो सकती, हम उसे मुस्तर्द कर देंगे।

TOPPOPULARRECENT