Friday , December 15 2017

शाम के इंतिख़ाबात एक लानत

अमरीका ने कहा कि शाम के सदारती इंतिख़ाबात एक लानत हैं और उस के सदर बशारुल असद इंतिख़ाबात से पहले ही बरसरे इक्तेदार रहने के अख़लाक़ी हक़ से महरूम हो चुके हैं। शाम के सदारती इंतिख़ाबात के लिए कल राय दही हुई थी।

अमरीका ने कहा कि शाम के सदारती इंतिख़ाबात एक लानत हैं और उस के सदर बशारुल असद इंतिख़ाबात से पहले ही बरसरे इक्तेदार रहने के अख़लाक़ी हक़ से महरूम हो चुके हैं। शाम के सदारती इंतिख़ाबात के लिए कल राय दही हुई थी।

अपनी रोज़ाना प्रैस कान्फ़्रैंस में दफ़्तरे ख़ारजा की नायब तर्जुमान ने कहा कि शाम के आज के सदारती इंतिख़ाबात एक लानत हैं और सदर बशारुल असद बरसरे इक्तेदार रहने के अख़लाक़ी हक़ से महरूम हो चुके हैं। ऐसे इंतिख़ाबात हम सब के लिए नाक़ाबिले क़ुबूल हैं।

TOPPOPULARRECENT