Tuesday , June 19 2018

शाम के ख़िलाफ़ बैनुल अकवामी बिरादरी सख़्त मौक़िफ़ इख्तेयार करे: सऊदी अरब

जद्दा, 26 जून: (ए एफ पी) सऊदी अरब ने सदर शाम बशर अल असद दौर के ख़ातमा के लिए आलमी कार्रवाई की ज़रूरत पर ज़ोर दिया और कहा कि इस मुल्क में ख़ानाजंगी अब नस्ल कुशी में तब्दील हो चुकी है ।

जद्दा, 26 जून: (ए एफ पी) सऊदी अरब ने सदर शाम बशर अल असद दौर के ख़ातमा के लिए आलमी कार्रवाई की ज़रूरत पर ज़ोर दिया और कहा कि इस मुल्क में ख़ानाजंगी अब नस्ल कुशी में तब्दील हो चुकी है ।

अमेरीकी सेक्रेटरी आफ़ स्टेट जान कैरी से मुलाक़ात के दौरान अरब क़ाइदीन ने शाम की सूरत-ए-हाल पर गहरी तशवीश ज़ाहिर की। जान कैरी इस वक़्त सऊदी अरब के दौरा पर हैं। वज़ीर ख़ारेजा प्रिंस सऊद अल-फ़ैसल ने जान कैरी को बताया कि बशर अल असद ने दो साल से जारी इस लड़ाई में नस्ल कुशी का इर्तिकाब किया है और अब तक इस लड़ाई में एक लाख से ज़ाइद अफ़राद हलाक हो चुके हैं।

उन्होंने शाम की हुकूमत को किसी भी तरह के हथियारों की सरबराही पर इम्तिना के लिए वाज़िह बैनुल-अक़वामी क़रारदाद का मुतालिबा किया। उन्होंने इरान के रोल पर भी नाराज़गी ज़ाहिर की जो बशर अल असद को बचाने की हर मुम्किन कोशिश कर रहा है।

प्रिंस फैसल के इस सख़्त मौक़िफ़ के बावजूद जान कैरी ने कहा कि अमेरीका ने गुज़श्ता साल जेनेवा में एक मुआहिदा की हिमायत की थी जिस में उबूरी हुकूमत क़ायम करने पर ज़ोर दिया गया जो बाग़ी और मौजूदा हुकूमत की नुमाइंदा हो ।

TOPPOPULARRECENT