शाम पर हमले की सूरत में मशरिक़े वुस्ता जल उठेगा- बशार अल असद

शाम पर हमले की सूरत में मशरिक़े वुस्ता जल उठेगा- बशार अल असद
शाम ने अमरीका को ख़बरदार किया है कि मुल्क में जारी ख़ानाजंगी के दौरान मुश्तबा कीमीयाई हथियारों की बिना किसी भी तरह की फ़ौजी कार्रवाई एक आग का गोला साबित होगी जिस की ज़द में आकर सारा मशरिक़े वुस्ता शोला पोश होजाएगा।

शाम ने अमरीका को ख़बरदार किया है कि मुल्क में जारी ख़ानाजंगी के दौरान मुश्तबा कीमीयाई हथियारों की बिना किसी भी तरह की फ़ौजी कार्रवाई एक आग का गोला साबित होगी जिस की ज़द में आकर सारा मशरिक़े वुस्ता शोला पोश होजाएगा।

सदर बशार अल असद के क़रीबी हलीफ़ ईरान ने भी आज कहा कि अमरीका को शाम के मुआमले में अपनी हद से आगे नहीं बढ़ना चाहीए। इस दौरान डॉक्टर्स ने कहा है कि गुज़िश्ता हफ़्ते शामी फ़ौज के ज़हरीली ग़ैस हमले की वजह से हज़ारों अफ़राद हलाक हुए हैं। अक़वाम-ए-मुत्तहिदा इन्सपैक्टर्स की एक टीम दमिशक़ में वाक़े एक होटल में ठहरी हुई है जहां से चंद मील के फ़ासले पर वो इलाक़ा वाक़े है, जिसे मुबय्यना तौर पर कीमीयाई कहा गया है, लेकिन शाम ने टीम को यहां का दौरा करने की इजाज़त नहीं दी और कहा कि जारिया साल जुलाई में मुबय्यना तौर पर कीमीयाई हथियारों के ताल्लुक़ से जिस फ़ेहरिस्त पर इत्तिफ़ाक़ किया गया, इसमें ये इलाक़ा शामिल नहीं है। शाम ने कहा कि इस मुल्क पर किसी भी तरह की फ़ौजी कार्रवाई तफ़रीह का सामान नहीं होगी। अमरीकी फ़ौजी मुदाख़िलत के इंतिहाई संगीन असरात मुरत्तिब होंगे और ऐसे किसी हमले की सूरत में सारा मशरिक़े वुस्ता शोलों की ज़द में आजाएगा।

शाम के वज़ीर-ए-इत्तलात इमरान ज़ूबी के हवाले से सरकारी ख़बररसां एजेंसी सना ने ये इत्तिला दी। उन्होंने लुबनान के अलमाइदीन टी वी को ये बात बताई। सदर अमरीका बारक ओबामा शाम की ख़ानाजंगी में मुदाख़िलत के ताल्लुक़ से पस-ओ-पेश कररहे हैं, लेकिन दमिशक़ के क़रीब कीमीयाई हमलों और बड़े पैमाने पर हलाकतों के बाद वाईट हाउज़ पर दबाव बढ़ता जा रहा है। इस से पहले ओबामा ने कहा था कि कीमीयाई हथियारों का इस्तिमाल अमरीका के लिए सुर्ख़ लकीर होगा।

ईरान ने कहा कि वाशिंगटन की किसी तरह की मुदाख़िलत के संगीन अवाक़िब-ओ-नताइज बरामद होंगे। ईरान की मुसल्लह फ़ोर्स के डिप्टी चीफ़ आफ़ स्टाफ़ मसऊद जुज़ आवरी के हवाले से ख़बररसां एजेंसी फ़ारस ने इत्तिला दी कि अमरीका को शाम के महाज़ पर अपनी हद्द-ए-फ़ासिल का अंदाज़ा है और इस हद्द-ए-फ़ासिल को उबूर करने के नतीजे में वाईट हउज़ को संगीन अवाक़िब-ओ-नताइज का सामना करना होगा।
बशार अल असद के हामी रूस ने भी शाम के क़ाइदीन पर ज़ोर दिया है कि वो अक़वाम-ए-मुत्तहिदा इन्सपेक्टर्स के साथ तआवुन करें जो उस वक़्त दमिशक़ में हैं। इस दौरान वज़ीर-ए-आज़म बर्तानिया डेविड कैमरोन और सदर अमरीका बारक ओबामा ने शाम की सूरत-ए-हाल पर तबादला-ए-ख़्याल किया। इन दोनों ने फ़ोन पर रब्त क़ायम करते हुए कहा कि अगर शाम की जानिब से कीमीयाई हथियारों के इस्तिमाल की तौसीक़ होजाए तो इस का मूसिर जवाब दिया जाएगा।

इन दोनों क़ाइदीन की बातचीत तक़रीबन 40 मिनट जारी रही और उन्होंने शामी हुकूमत के बढ़ते हमलों पर तशवीश का इज़हार किया। अमरीकी डिफ़ैंस सेक्रेटरी चैक हीगल ने कहा कि अमरीकी फ़ौज कार्रवाई के लिए पूरी तरह तैयार है ,जबकि अमरीका से तक़रीबन 4 टन असलाह बराह तुर्की शाम को रवाना किया जा रहा है ताकि बशार अल असद हुकूमत के ख़िलाफ़ अपोज़िशन की मदद की जा सके।

Top Stories