Monday , December 18 2017

शाम में अपने शहरीयों को बचाने अमरीका की खु़फ़ीया कार्रवाई

अमरीका की ख़ुसूसी कार्रवाई करने वाली अफ़्वाज ने शाम में खु़फ़ीया धावा सदर अमरीका बारक ओबामा के इशारा पर शुरू कर दिया है ताकि सहाफ़ी डेनिस फूले और दीगर अमरीकीयों को जिन्हें दौलते इस्लामीया के अस्करीयत पसंदों ने यरग़माल बना रखा है,

अमरीका की ख़ुसूसी कार्रवाई करने वाली अफ़्वाज ने शाम में खु़फ़ीया धावा सदर अमरीका बारक ओबामा के इशारा पर शुरू कर दिया है ताकि सहाफ़ी डेनिस फूले और दीगर अमरीकीयों को जिन्हें दौलते इस्लामीया के अस्करीयत पसंदों ने यरग़माल बना रखा है, बचाया जा सके।

लेकिन ये पेचीदा कार्रवाई नाकाम हो गई और बचाव टीमों का तख़्लिया करवा दिया गया। क़सरे सदारत और वज़ारते दिफ़ा के हेडक्वार्टर्स दोनों ने कल तस्लीम किया कि शाम में अमरीकी शहरीयों को दौलत इस्लामीया के यरग़माल बनने से बचाने के लिए एक खु़फ़ीया कार्रवाई की गई थी।

ये इन्किशाफ़ दौलत इस्लामीया इराक़ और शाम की जानिब से इस परेशानकुन वीडियो की नुमाइश के बाद मंज़रे आम पर आया जिस में इस के अरकान में से एक फूले का सर क़लम करते हुए दिखाया गया है।

फूले का अग़वा शाम से नवंबर 2012 में किया गया था। ओबामा इंतेज़ामीया ने इस बात की तौसीक़ नहीं की कि यरग़मालियों में जेम्स फूले भी शामिल था लेकिन ज़राए इबलाग़ की कई इत्तिलाआत में कहा गया है कि वो इन यरग़मालियों में से एक था। ओबामा इंतेज़ामीया के सीनियर ओहदेदारों के बामूजिब ख़ुसूसी अफ़्वाज एक दौरे उफ़्तादा इलाक़ा में उतारी गई थीं।

महकमा सुराग़ रसानी के ओहदेदारों को शुबा है कि यरग़मालियों को यही हब्से बेजा में रखा गया है। ये खु़फ़ीया कार्रवाई जिस में बेशुमार अमरीकी कमांडोज़ शरीक थे, जिन में से एक अस्करीयत पसंदों के साथ हौलनाक झड़प में ज़ख़्मी हो गया। जान कर्बी ने कहा कि अमरीका अपने शहरीयों के खासतौर पर क़ैद में मसाइब के शिकार शहरीयों के तहफ़्फ़ुज़ का पाबंद है।

TOPPOPULARRECENT