Friday , December 15 2017

शाम में दाइश के ‘दारुल हुकूमत’ पर फ़िज़ाई हमले, 23 हलाक

A frame grab taken from a footage released by Russia's Defence Ministry shows smoke caused by airstrikes carried out by the country's air force at an unknown location in Syria, October 26, 2015. REUTERS/Ministry of Defence of the Russian Federation/Handout via Reuters ATTENTION EDITORS - THIS IMAGE WAS PROVIDED BY A THIRD PARTY. REUTERS IS UNABLE TO INDEPENDENTLY VERIFY THE AUTHENTICITY, CONTENT, LOCATION OR DATE OF THIS IMAGE. IT IS DISTRIBUTED EXACTLY AS RECEIVED BY REUTERS, AS A SERVICE TO CLIENTS. FOR EDITORIAL USE ONLY. NOT FOR SALE FOR MARKETING OR ADVERTISING CAMPAIGNS. NO RESALES. NO ARCHIVE.

शाम में सख़्त-गीर जंगजू ग्रुप दाइश के दारुल हुकूमत अलरक़ा में लड़ाका तैयारों ने मुतअद्दिद फ़िज़ाई हमले किए हैं जिनके नतीजे में तेरह जिहादीयों समेत तेईस अफ़राद हलाक हो गए हैं।

बर्तानिया में क़ायम शामी ऑब्ज़र्वेट्री बराए इन्सानी हुक़ूक़ के सरब्राह रामी अबदुर्रहमान ने बताया है कि शामी फ़ौज या फिर रूसी फ़िज़ाईया के लड़ाका तैयारों के बारे में ये ख़्याल किया जाता है कि उन्होंने ये बमबारी की है।

उन्होंने अपने नेटवर्क के हवाले से मज़ीद बताया है कि लड़ाका तैयारों ने अलरक़ा में मुख़्तलिफ़ हिस्सों में वाक़े दाइश के ठिकानों और इस के ज़ेरे इंतेज़ाम इमारतों पर सोला फ़िज़ाई हमले किए हैं। उनमें दाइश के तेरह जंगजू और दस आम शहरी मारे गए हैं।

TOPPOPULARRECENT